Create
Notifications

टी-20 में एम एस धोनी के साथ 5 सबसे सफल गेंदबाजों की जोड़ी

Enter caption
Ankit

जब-जब भारतीय क्रिकेट के इतिहास में एक सफल विकेटकीपर, सफल कप्तान या सफल बल्लेबाज का जिक्र होगा तब-तब महेन्द्र सिंह धोनी का नाम जरूर लिया जाएगा। उन्होंने अपनी कप्तानी में भारत को वनडे विश्वकप, टी-20 विश्वकप और चैम्पियंस ट्रॉफी जैसे बड़े खिताब जिताए हैं। ऐसा कीर्तिमान रचने वाले वह पहले कप्तान भी हैं।

शुरुआत में धोनी एक असाधरण व आक्रमक शैली से बल्लेबाजी करते थे, मगर अनुभव के साथ -साथ उन्होंने अपनी इस अनूठी शैली में बदलाव किया । बढ़ती उम्र के साथ- साथ विकेट के पीछे इनकी चपलता बढ़ती ही चली गई। आज भी धोनी सी फुर्तीला विकेटकीपर शायद ही कोई हो।

धोनी का टी-20 अंतर्राष्ट्रीय विकेटकीपिंग करियर

एम एस धोनी ने अब तक 93 टी-20 मैच खेले हैं। उन्होंने अपने करियर में 87 टी-20 शिकार किये, जिनमें 54 कैच व 33 स्टंपिंग शामिल हैं। उन्होंने एक पारी में सर्वाधिक 5 कैच पकड़े हैं। धोनी ने 72 टी-20 मैचों में कप्तानी भी की और 42 मैचों में टीम को जीत भी दिलवाई।

आइए जानते हैं टी20 क्रिकेट में किन-किन गेंदबाजों के साथ विकेटों के पीछे उनकी जोड़ी काफी सफल रही।

# 5 रविचंद्रन अश्विन ( 1 कैच, 5 स्टंप )

Enter caption

रविचंद्रन अश्विन दायें हाथ के बेहतरीन ऑफ स्पिन गेंदबाज हैं। भारतीय टीम में उन्होंने हरभजन सिंह की कमी को पूरा किया है। उनकी गेंदबाजी में अनेक विविधता देखने को मिलती है, जिनमें से कैरम बॉल प्रमुख है। अश्विन ने टी-20 क्रिकेट में अपना पर्दापण 12 जून 2010 को जिम्बाब्वे के खिलाफ किया था।

उन्होंने अब तक भारत के लिए 46 टी-20 मैच खेले, जिसकी 46 पारियों में उन्होंने 52 विकेट हासिल किए। ये विकेट अश्विन ने 6.98 के इकॉनमी व 32.91 के औसत से अपने नाम किये। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 8 रन पर 4 विकेट रहा।

धोनी और अश्विन की जोड़ी भारतीय टीम के साथ-साथ आईपीएल में भी प्रसिद्ध रही। अपने कुल 52 टी-20 विकेटों में से 6 विकेट उन्होंने धोनी के सहयोग से हासिल किए, जिसमें 1 कैच व 5 स्टंप शामिल रहे।

# 4 हार्दिक पांड्या ( 7 कैच )

Enter caption

बेहतरीन युवा ऑल राउंडर हार्दिक पांड्या ने अपना टी-20 पर्दापण 26 जनवरी 2016 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ किया था। उन्होंने भारत के लिए अब तक 35 टी-20 मैच खेले हैं और 33 विकेट चटकाए हैं। उन्होंने ये विकेट 8 के इकॉनमी रेट व 23.97 के औसत से अपने नाम किए। हार्दिक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 38 रन पर 4 विकेट लेना रहा है।

उनके कुल 33 विकेटों में से 7 विकेटों में धोनी का सहयोग रहा। धोनी ने यह 7 विकेट कैच आउट के रूप में लिए।

# 3 आशीष नेहरा ( 9 कैच )

Enter caption

बायें हाथ के तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने अपना टी-20 डेब्यू 9 दिसम्बर 2009 को श्रीलंका के खिलाफ किया। नेहरा ने 27 मैचों में 22.29 की औसत से 34 विकेट लिए। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन अफगानिस्तान के खिलाफ 19 रन पर 3 विकेट रहा।

नेहरा के कुल 34 विकेटों में से 9 विकेट में धोनी का सहयोग रहा। धोनी ने यह 9 विकेट कैच के रूप मे लपके।

# 2 युवराज सिंह ( 5 कैच, 4 स्टंप )

Ente

युवराज सिंह अपनी बल्लेबाजी के लिए ज्यादा जाने जाते हैं, मगर जरूरत के समय वह उपयोगी गेंदबाजी भी कर लेते हैं। उन्होंने टी-20 में अपना डेब्यू 13 सितम्बर 2007 को स्कॉटलैंड के खिलाफ किया। उन्होंने अपने 58 मैचों की 31 पारियों में 28 विकेट लिए। उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी विश्लेषण 17 रन देकर 3 विकेट लेना रहा।

उन्होंने अपने कुल 28 विकेटों में से 9 विकेट धोनी के सहयोग से लिये। जिसमे 5 कैच व 4 स्टंप शामिल हैं।

# 1 यजुवेंद्र चहल ( 1 कैच, 8 स्टंप )

Enter

यजुवेंद्र चहल दायें हाथ के लेग ब्रेक गेंदबाज हैं। उन्होंने अपना टी-20 डेब्यू 18 जून 2016 को ज़िम्बाब्वे के खिलाफ किया। उन्होंने अपने 27 मैचों की 27 पारियों में 18.75 की औसत से 44 विकेट लिए। उनका बेस्ट प्रदर्शन 25 रन देकर 6 विकेट लेना रहा।

चहल ने अपने कुल 44 विकेटों में से 9 विकेट धोनी के सहयोग से लिए। जिसमें 1 कैच व 8 स्टंप शामिल हैं।

Edited by सावन गुप्ता

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...