Create
Notifications

इंग्लैंड की टीम को जोस बटलर की पारी से सीख लेना चाहिए, पूर्व कोच का बयान

जोस बटलर ने एडिलेड टेस्ट मैच में काफी धैर्यपूर्वक ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों का सामना किया था
जोस बटलर ने एडिलेड टेस्ट मैच में काफी धैर्यपूर्वक ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों का सामना किया था
Nitesh

इंग्लैंड के पूर्व हेड कोच ट्रेवर बेलिस (Trevor Bayliss) ने कहा है कि तीसरे एशेज टेस्ट मैच (Ashes Series) में मेहमान टीम को काफी धैर्य और जज्बा दिखाना होगा। ट्रेवर बेलिस ने कहा है कि वर्तमान एशेज सीरीज में पीछे चल रही इंग्लिश टीम को जोस बटलर (Jos Buttler) की पारी से सीख लेना चाहिए और उनकी ही तरह क्रीज पर टिके रहने का जज्बा दिखाना चाहिए।

इंग्लैंड के ज्यादातर बल्लेबाज एशेज सीरीज में फ्लॉप रहे हैं। केवल डेविड मलान और कप्तान जो रूट ही क्रीज पर कुछ देर तक टिक पाए हैं। इसके अलावा बाकी खिलाड़ियों का परफॉर्मेंस अच्छा नहीं रहा है। हालांकि पिछले मुकाबले की दूसरी पारी में जोस बटलर ने जरूर एक दीवार की तरह ऑस्ट्रेलियाई टीम का सामना किया था और काफी देर तक इंग्लैंड की हार को टाले रखा था।

जोस बटलर ने 207 गेंदों का सामना किया था और सिर्फ 26 रन बनाए थे। हालांकि उनका प्रमुख मकसद मैच को ड्रॉ कराना था। अगर वो दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से हिट विकेट ना आउट हो जाते तो शायद अपने मकसद में कामयाब भी हो जाते।

जोस बटलर जैसा जज्बा पूरी टीम को दिखाना होगा - ट्रेवर बेलिस

ट्रेवर बेलिस का कहना है कि इंग्लैंड की बाकी टीम को भी जोस बटलर की ही तरह क्रीज पर टिककर खेलना चाहिए और इसी तरह कंगारू गेंदबाजों का सामना करना चाहिए।

डेली मेल में लिखे अपने कॉलम में उन्होंने कहा "जोस बटलर ने एक उदाहरण सेट किया है कि अगर आपको सीरीज में वापसी करनी है तो फिर इसी तरह की बल्लेबाजी करनी होगी। एडिलेड टेस्ट मैच के आखिरी दिन बटलर ने जो जज्बा दिखाया था उसी जज्बे की जरूरत मेलबर्न में होने वाले बॉक्सिंग डे टेस्ट में होगी। ऐसा लग रहा था कि शायद बटलर ये कह रहे हों कि आप मुझे आउट नहीं कर सकते हैं।"


Edited by Nitesh

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...