Create
Notifications

"राहुल द्रविड़ और रोहित शर्मा के साथ काम करने को लेकर उत्‍साहित हूं" युवा भारतीय खिलाड़ी का बयान

भारतीय टीम के नए हेड कोच बने राहुल द्रविड़
भारतीय टीम के नए हेड कोच बने राहुल द्रविड़
Vivek Goel
FEATURED WRITER

बाएं हाथ के बल्‍लेबाज ऑलराउंडर वेंकटेश अय्यर (Venkatesh Iyer) ने आईपीएल 2021 (IPL 2021) के दूसरे चरण में कोलकाता नाइटराइडर्स (Kolkata Knight Riders) के लिए खेलते हुए अपनी चमक बिखेरी थी। युवा खिलाड़ी को उनके शानदार प्रदर्शन का ईनाम मिला और न्‍यूजीलैंड (New Zealand Cricket team) के खिलाफ आगामी टी20 इंटरनेशनल सीरीज के लिए भारतीय टीम (India Cricket team) में उनका चयन हुआ।

भारत और न्‍यूजीलैंड के बीच टी20 इंटरनेशनल सीरीज की शुरूआत 17 नवंबर से होगी। एएनआई से बातचीत में अय्यर ने सीरीज से उम्‍मीद, हेड कोच राहुल द्रविड़ के साथ काम करने और खेल के तीनों पहलुओं में दमदार प्रदर्शन करने के महत्‍व के बारे में खुलकर बातचीत की।

26 साल के वेंकटेश अय्यर ने कहा, 'ऑलराउंडर होने के नाते सिर्फ एक नहीं बल्कि दोनों पहलुओं पर ध्‍यान देना महत्‍वपूर्ण होता है। आपको अपनी फिटनेस पर कड़ी मेहनत करनी होती है और खेल के तीनों पहलुओं में योगदान देना होता है क्‍योंकि फील्डिंग भी बराबरी से महत्‍वपूर्ण हैं। मैं इसे गेंदबाजी या बल्‍लेबाजी के लिए नहीं देख रहा हूं। मैं इसे पूरी तरह देख रहा हूं और मुझे खेल के तीनों विभागों में योगदान देने की जरूरत है।'

उन्‍होंने आगे कहा, 'आपको क्रिकेटर होने के नाते लचीला होने की जरूरत है तो मैं किसी भी क्रम पर बल्‍लेबाजी करने को तैयार हूं। जो भी मेरे रास्‍ते में चुनौतियां आएंगी, उसमें मैं अपना सर्वश्रेष्‍ठ करने की कोशिश करूंगा। देश का प्रतिनिधित्‍व करना बड़े सम्‍मान की बात है। हां मैं ऑलराउंडर हूं तो जगह लेने में कोई दिक्‍कत नहीं है और मेरे ख्‍याल से मैं गेंद और बल्‍ले दोनों से योगदान दे सकता हूं। मुझे इस पर विश्‍वास है और मैं इसके लिए तैयार हूं।'

मैं रोहित शर्मा का फैन हूं: अय्यर

जब पूछा गया कि राहुल द्रविड़ की कोचिंग में खेलने के लिए कितने उत्‍साहित हैं तो बाएं हाथ के बल्‍लेबाज ने कहा, 'मैंने राहुल सर के साथ कभी काम नहीं किया। मैं बहुत उत्‍साहित हूं। मैं रोहित शर्मा का बड़ा प्रशंसक हूं। उनकी बल्‍लेबाजी को बहुत मानता हूं। दोनों के साथ काम करने को लेकर उत्‍सुक हूं।'

केकेआर का आईपीएल 2021 के पहले हाफ में प्रदर्शन निराशाजनक रहा था। मगर दूसरे हाफ में अय्यर का परिचय हुआ और टीम का भाग्‍य बदला। केकेआर ने फाइनल में प्रवेश किया, जहां उसे चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स से शिकस्‍त मिली।

10 मैचों में अय्यर ने 41.11 की औसत से 370 रन बनाए और तीन विकेट भी लिए। अय्यर ने कहा, 'मेरे ख्‍याल से केकेआर से मुझे सीखने को खूब मिला। भारतीय टीम का हिस्‍सा बनने पर ज्‍यादा उत्‍साह है। जो भी क्रिकेट खेलना शुरू करता है, वो नीली जर्सी पहनने का सपना हमेशा जरूर पूरा करना चाहेंगे। मैं बहुत उत्‍साहित हूं।टीम के लिए योगदान देने पर मेरा ध्‍यान है।'


Edited by Vivek Goel
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now