Create

"विराट कोहली 50-60 टेस्ट मैच जीत लेते और बहुत लोग इसे पचा नहीं पाते," रवि शास्त्री का तीखा बयान

विराट कोहली ने टेस्ट कप्तानी छोड़ी है
विराट कोहली ने टेस्ट कप्तानी छोड़ी है

पूर्व भारतीय खिलाड़ी और कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने विराट कोहली (Virat Kohli) के टेस्ट कप्तानी छोड़ने के निर्णय को लेकर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वह 2 साल और नेतृत्व कर सकते थे। इसके साथ ही शास्त्री ने यह भी कहा कि हमें उनके निर्णय का सम्मान करना चाहिए। इंडिया टुडे से बातचीत करते हुए शास्त्री ने ये बातें कही।

रवि शास्त्री ने कहा कि क्या विराट टेस्ट में भारत का नेतृत्व करना जारी रख सकते थे। निश्चित रूप से, वह कम से कम 2 वर्षों तक भारत का नेतृत्व कर सकते थे क्योंकि अगले दो वर्षों में भारत घर पर खेल रहा होगा। लेकिन वह तब अपनी कप्तानी में 50-60 जीत हासिल कर लेते और बहुत से लोग इस तथ्य को पचा नहीं पाएंगे।

शास्त्री ने रोहित शर्मा को टेस्ट कप्तानी का दावेदार बताया
शास्त्री ने रोहित शर्मा को टेस्ट कप्तानी का दावेदार बताया

पूर्व भारतीय कोच ने आगे कहा कि कोहली दो साल और कप्तान रह सकते थे लेकिन हमें उनके निर्णय का सम्मान करना चाहिए। किसी भी देश में इस तरह का रिकॉर्ड अविश्वसनीय है। आप ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड में जीते और दक्षिण अफ्रीका में 1-2 से हारे, फिर भी बहस चल रही है कि उन्हें कप्तान होना चाहिए कि नहीं।

उल्लेखनीय है कि विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज के बाद इस्तीफ़ा दे दिया था। हर किसी के लिए कोहली का यह निर्णय चौंकाने वाला था। ऐसे में यह बहस देखने को मिली कि क्या उन्हें और कप्तान रहना चाहिए था। कई पूर्व खिलाड़ियों ने कोहली को और कप्तान देखने की इच्छा जताई। हालांकि यह उनका व्यक्तिगत निर्णय है। बीसीसीआई के सामने अब नए कप्तान को चुनने का काम है। चयन समिति किसे नया कप्तान बनाती है, यह देखने वाली बात होगी।

नए कप्तान के लिए शास्त्री ने रोहित शर्मा को दावेदार बताया है। शास्त्री ने कहा कि वह अगर फिट रहते हैं, तो टेस्ट क्रिकेट में कप्तान क्यों नहीं बन सकते।

Quick Links

Edited by Naveen Sharma
Be the first one to comment