Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

मेरे कप्तान बनने के पीछे एम एस धोनी का काफी बड़ा हाथ था- विराट कोहली

विराट कोहली और एम एस धोनी
विराट कोहली और एम एस धोनी
SENIOR ANALYST
Modified 31 May 2020, 12:52 IST
न्यूज़
Advertisement

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने अपने कप्तान बनने को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि मेरे कप्तान बनने के पीछे एम एस धोनी का काफी बड़ा रोल था। उन्होंने मुझे काफी करीब से देखा और उनके भरोसे की वजह से ही मुझे कप्तान बनने में मदद मिली।

रविचंद्रन अश्विन के साथ इंस्टाग्राम पर लाइव चैट के दौरान विराट कोहली ने कहा कि मेरे कप्तान बनने के पीछे धोनी का काफी बड़ा हाथ था, क्योंकि वो काफी समय से मुझ पर निगाह रखे हुए थे। ऐसा नहीं था कि उन्होंने कप्तानी छोड़ी और चयनकर्ताओं ने मुझसे कहा कि आप कप्तान बन गए हैं। जो खिलाड़ी उस वक्त कप्तान होता है, वो ये जिम्मेदारी लेता है और वही बताता है कि ये प्लेयर अब कप्तानी कर सकता है और मैं आपको बताउंगा कि वो कैसा है। कोहली ने कहा कि मेरे हिसाब से धोनी काफी बड़ा रोल प्ले किया था और आपको वो विश्वास जीतना होता है, इसमें 6 या 7 साल लग जाते हैं और ये केवल एक रात में नहीं हो जाता है।

ये भी पढ़ें: इरफान पठान का बड़ा खुलासा, कहा शोएब अख्तर ने मुझे उठवाने की धमकी दी थी

View this post on Instagram

Throwback 👀

A post shared by Virat Kohli (@virat.kohli) on

ये भी पढ़ें: टी20 अंतर्राष्ट्रीय में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले 3 गेंदबाज

विराट कोहली ने कहा कि मैं हमेशा एम एस धोनी से बात करता रहता था कि ये कर सकते हो, वो कर सकते हो। वो बहुत सारी चीजों के लिए मना कर देते थे लेकिन वो मुझसे चर्चा जरुर करते थे। इसलिए उनको भरोसा हुआ कि उनके बाद मैं कप्तानी कर सकता हूं। विराट कोहली ने कहा कि भारत का कप्तान बनने के बारे में मैंने सपने में भी नहीं सोचा था।

विराट कोहली ने पाकिस्तान के खिलाफ अपनी 183 रनों की पारी को भी किया याद

वहीं विराट कोहली ने 2012 के एशिया कप में पाकिस्तान के खिलाफ अपनी 183 रनों की जबरदस्त पारी को भी याद किया। उन्होंने कहा कि ये पारी उनके लिए गेमचेंजर थी। उस समय पाकिस्तानी टीम में शाहिद अफरीदी, सईद अजमल, उमर गुल, एजाज चीमा और मोहम्मद हफीज भी थे जो गेंदबाजी कर सकते थे।

ये भी पढ़ें: विंसी प्रीमियर टी10 लीग में 9वें दिन खेले गए सभी मैचों की रिपोर्ट

पहले 20-25 ओवरों में परिस्थितियां उनके अनुकूल थीं लेकिन मुझे अभी भी याद है कि मैं काफी खुश था, क्योंकि सचिन तेंदुलकर के साथ मैं बैटिंग कर रहा था। उन्होंने 50 रन बनाए और हमारे बीच 100 रनों की साझेदारी हुई, इसलिए वो मेरे लिए काफी यादगार था।

Published 31 May 2020, 12:52 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit