Create
Notifications

विराट कोहली ने युजवेंद्र चहल को टी20 वर्ल्ड कप के लिए ना चुने जाने के पीछे प्रमुख वजह का किया खुलासा  

विराट कोहली ने युजवेंद्र चहल को ना चुने जाने के पीछे बताई वजह
विराट कोहली ने युजवेंद्र चहल को ना चुने जाने के पीछे बताई वजह
ANALYST

आईपीएल के इस सीजन की समाप्ति के बाद अब बारी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बड़े आईसीसी टूर्नामेंट टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup 2021) की है। इस अहम टूर्नामेंट के लिए सभी देशों ने अपने-अपने स्क्वॉड का ऐलान पहले ही कर दिया है। बात की जाए भारतीय (Indian Cricket Team) स्क्वॉड में तो इसमें युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) का ना होना एक चौंकाने वाला फैसला रहा। चहल पिछले काफी सालों से भारत के प्रमुख स्पिनर की भूमिका निभा रहे थे और उन्हें ड्रॉप करना एक मुश्किल फैसला था। भारत के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने भी स्वीकार किया कि लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल को टी20 वर्ल्ड कप टीम से बाहर करना चयनकर्ताओं और टीम प्रबंधन के लिए चुनौतीपूर्ण था।

चयनकर्ताओं ने आईपीएल के दूसरे चरण से पहले टीम का चुनाव किया था और उससे पहले के प्रदर्शन को देखते हुए चहल की जगह मुंबई इंडियंस के राहुल चाहर को चुना गया। हालांकि चहल ने दूसरे चरण में बेहतरीन प्रदर्शन किया और विकेट चटकाए लेकिन चयनकर्ताओं ने बदलाव करते हुए चहल को शामिल नहीं किया।

भारत के कप्तान विराट कोहली शनिवार को दुबई में प्री-टूर्नामेंट प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि राहुल चाहर ने लगातार अच्छा किया है और वह गति के साथ गेंदबाजी करते हैं, इसीलिए उन्हें चुना गया। विराट ने कहा,

यह एक कठिन और चुनौतीपूर्ण निर्णय (चहल को ड्रॉप करना) था।

चहल की जगह चुने गए राहुल चहल को लेकर विराट ने कहा,

हमने राहुल चाहर को एक कारण से समर्थन देने का फैसला किया। उन्होंने पिछले कुछ सालों में आईपीएल में शानदार गेंदबाजी की है। एक ऐसा व्यक्ति जो तेज गेंदबाजी करता है, उसने श्रीलंका में और इंग्लैंड के खिलाफ घर में भी वास्तव में अच्छा प्रदर्शन किया, वह ऐसा व्यक्ति था जिसने उन कठिन ओवरों को फेंका।

धीमी पिचों पर राहुल चाहर मुश्किलें पैदा करेंगे - विराट कोहली

राहुल चाहर पर बड़ी जिम्मेदारी होगी
राहुल चाहर पर बड़ी जिम्मेदारी होगी

विराट कोहली ने बताया कि राहुल चाहर को चुने जाने के पीछे मुख्य कारण उनकी गति भी है और यूएई की पिचों पर वह कारगर साबित होंगे। विराट ने आगे कहा,

हमारा मानना है कि टूर्नामेंट के आगे बढ़ने के साथ ही विकेट धीरे-धीरे और धीमे हो जायेंगे। इसलिए जो लोग तेज गति से गेंदबाजी करते हैं वे बल्लेबाजों को हवा देने वालों की तुलना में परेशान करने में सक्षम होंगे। एक लेग स्पिनर के रूप में स्वाभाविक रूप से राहुल के पास वह ताकत है। वह ऐसा व्यक्ति है जो हमेशा विकेटों पर आक्रमण करता है, यही वह चीज है जिसकी वजह से उनका पलड़ा भारी रहा। वर्ल्ड कप के लिए टीम चुनना हमेशा मुश्किल होता है और आप हमेशा उस टीम में हर किसी को नहीं रख सकते।

राहुल चाहर का यूएई में खेले गए आईपीएल 2021 में काफी साधारण प्रदर्शन था। ऐसे में देखना होगा कि आगामी वर्ल्ड कप में वह भारत के लिए किस तरह का प्रदर्शन करते हैं।


Edited by Prashant Kumar
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now