Create
Notifications

"जब आप बल्लेबाजों को 5-6 मैच देते हैं तो गेंदबाजों को भी वापसी का मौका मिलना चाहिए" - आईपीएल 2022 में मुंबई इंडियंस के बदलावों को लेकर आई प्रतिक्रिया 

टायमल मिल्स और डेनियल्स सैम्स को आरसीबी के खिलाफ ड्रॉप कर दिया गया था
टायमल मिल्स और डेनियल्स सैम्स को आरसीबी के खिलाफ ड्रॉप कर दिया गया था
reaction-emoji
Prashant Kumar
visit

पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वीरेंदर सहवाग (Virender Sehwag) को लगता है कि कमजोर गेंदबाजी आक्रमण के बावजूद मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) को मजबूत वापसी के लिए अपने गेंदबाजों का समर्थन करने की जरूरत है। टूर्नामेंट में अब तक डेनियल सैम्स और टायमल मिल्स महंगे साबित हुए हैं। दोनों ही गेंदबाजों को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ हुए मैच में बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था और फिर भी उस मैच में टीम को हार झेलनी पड़ी थी।

क्रिकबज से बात करते हुए, वीरेंदर सहवाग ने बताया कि क्यों मुंबई के पास क्वॉलिटी वाले गेंदबाजों के विकल्प कम हैं। उन्हें अपने गेंदबाजों का समर्थन करने की जरुरत है। उन्होंने कहा,

वे [रिले] मेरेडिथ को खिला सकते हैं, उसके पास पोटेंशियल है। यहां तक कि मिल्स में भी पोटेंशियल है लेकिन यह देखना जरुरी है कि जब एक खिलाड़ी को रन पड़ते हैं तो आप कितने समय तक उनके साथ टिके रह सकते हैं। अगर आप एक बल्लेबाज को 5-6 मैच दे सकते हैं तो आपको गेंदबाज को भी वापसी करने का मौका देना चाहिए। आप टीमों को बांट सकते हैं और गेंदबाज को कुछ खास टीमों के खिलाफ ही खिला सकते हैं।

सहवाग को लगता है कि मुंबई को अच्छा प्रदर्शन करने के लिए अपने अनुभवी खिलाड़ियों पर निर्भर रहने की जरूरत है। उन्होंने यह भी उदाहरण दिया कि कैसे चेन्नई सुपर किंग्स की टीम में उम्रदराज खिलाड़ी होने के बावजूद उन्होंने अपने अनुभव के कारण दो खिताब जीते।

आम तौर पर दबाव की स्थितियों में, अनुभव मायने रखता है और ठीक वैसा ही चेन्नई की 'डैडी आर्मी' ने अपने खिताब जीतने वाले सीजन में करके दिखाया।

सहवाग के साथ मौजूद आरपी सिंह को लगता है कि विकेट लेने के विकल्पों की कमी के बुमराह के प्रदर्शन पर भी असर दिखाई दे रहा है। उनका मानना है कि बुमराह अपनी टीम को सफलता दिलाने के लिए बहुत मेहनत कर रहे हैं। उन्होंने कहा,

रिले मेरेडिथ एक विकल्प हैं लेकिन आपको यह देखने की जरूरत है कि क्या वह बुमराह के साथ स्ट्राइक साझेदारी करेंगे। अगर ऐसा नहीं होता है तो अकेला गेंदबाज ज्यादा कुछ नहीं कर सकता है। जैसा कि हमने पिछले गेम में देखा, बुमराह सीधे अपनी सर्वश्रेष्ठ गेंद पर चले गए जो पहले ओवर में यॉर्कर थी, और उनके पास बल्लेबाज को सेटअप करने या अपनी लेंथ बदलने के बारे में सोचने का समय नहीं था।

मुंबई इंडियंस को आरसीबी के खिलाफ डेनियल सैम्स को खिलाना चाहिए था - वीरेंदर सहवाग

ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर डेनियल सैम्स ने आईपीएल 2022 में गेंद से खराब प्रदर्शन किया है। उन्होंने इस सीजन में खेले तीनों मैचों में जमकर रन लुटाए। केकेआर के खिलाफ उनके ओवर में पैट कमिंस ने 35 रन जड़ दिए थे। कमिंस ने उस मैच में 14 गेंदों में अर्धशतक जड़ दिया था और आईपीएल में सबसे तेज अर्धशतक लगाने के मामलें में केएल राहुल की बराबरी की।

जहां मुंबई ने सैम्स को अपने आखिरी मैच में प्लेइंग इलेवन से बाहर का रास्ता दिखा दिया। वहीं वीरेंदर सहवाग का मानना है कि उनकी बल्लेबाजी एबिलिटी के कारण सूर्यकुमार यादव को थोड़ा और सपोर्ट मिलता। सहवाग का मानना है कि सैम बल्ले से रमनदीप सिंह से ज्यादा असरदार हो सकते थे। उन्होंने कहा,

अगर रमनदीप सिंह एक बल्लेबाज थे जो थोड़ी गेंदबाजी कर सकते थे, तो सैम्स को खिलाने में क्या गलत था? वह गेंदबाजी करते हुए रन देंगे लेकिन आखिरी गेम में, MI को बल्ले से उनकी जरूरत थी। जब विकेट गिर रहे थे, तो वह सूर्यकुमार यादव के साथ साझेदारी कर सकते थे और अपनी टीम को सम्मानजनक स्कोर तक ले जा सकते थे।

Edited by Prashant Kumar
reaction-emoji
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now