Create

वीरेंदर सहवाग ने 2007 वर्ल्ड कप में मिली हार का कारण बताया, प्रमुख शख्स को बताया जिम्मेदार

भारतीय टीम हारकर पहले ही दौर से बाहर हो गई थी
भारतीय टीम हारकर पहले ही दौर से बाहर हो गई थी
reaction-emoji
सावन गुप्ता

पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंदर सहवाग (Virender Sehwag) ने भारतीय टीम (Indian Cricket Team) को 2007 वनडे वर्ल्ड कप में मिली हार को लेकर बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने बताया कि भारतीय टीम को क्यों इस वर्ल्ड कप में इतनी बुरी तरह हार झेलनी पड़ी थी। इसके लिए उन्होंने टीम के प्रमुख शख्स को जिम्मेदार ठहराया है।

दरअसल टी20 वर्ल्ड कप 2021 में न्यूजीलैंड के खिलाफ मुकाबले में भारतीय टीम ने रोहित शर्मा का बैटिंग ऑर्डर चेंज कर दिया। उनसे ओपन की बजाय तीसरे नंबर पर खिलाया गया। सहवाग ने बताया कि ये रणनीति टीम को भारी पड़ गई। सहवाग के मुताबिक इसी तरह की रणनीति की वजह से भारतीय टीम को 2007 के वर्ल्ड कप में हार का सामना करना पड़ा था।

भारत की तरफ से 2007 वर्ल्ड कप में दो बड़ी गलतियां हुई थीं - वीरेंदर सहवाग

वीरेंदर सहवाग के मुताबिक उस वक्त सचिन तेंदुलकर को बैटिंग ऑर्डर में डिमोट किया गया था। उन्होंने क्रिकबज्ज पर बातचीत के दौरान कहा,

2007 के वर्ल्ड कप में हमने दो गलतियां की थीं। हम चेज करते हुए लगातार 17 मुकाबले जीत चुके थे लेकिन वर्ल्ड कप में हमारे कोच ने कहा कि हमें बैटिंग प्रैक्टिस की जरूरत है। मैंने उन्हें कहा कि पहले दो मैच हमें जीत जाने दीजिए उसके बाद बैटिंग के लिए छह और मैच बचे हुए हैं लेकिन उन्होंने इंकार कर दिया। दूसरी गलती ये थी कि सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली की ओपनिंग जोड़ी जबरदस्त प्रदर्शन कर रही थी लेकिन इसके बावजूद उसमें बदलाव किया गया। कहा गया कि अगर तेंदुलकर मिडिल ऑर्डर में बैटिंग करेंगे तो ज्यादा कंट्रोल करेंगे। हमारे पास मिडिल ऑर्डर में युवराज, राहुल द्रविड़ और धोनी पहले से ही थे तो फिर मिडिल ऑर्डर को चेंज क्यों करना था।

आपको बता दें कि 2007 के वर्ल्ड कप में भारतीय टीम दो मुकाबले हारकर पहले ही दौर से बाहर हो गई थी और वैसी ही स्थिति इस समय भी है।


Edited by सावन गुप्ता
reaction-emoji

Comments

Quick Links

More from Sportskeeda
Fetching more content...