Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

भारत में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वीवीएस लक्ष्मण की 5 बेहतरीन पारियां

वीवीएस लक्ष्मण
वीवीएस लक्ष्मण
SENIOR ANALYST
Modified 25 Nov 2020
टॉप 5 / टॉप 10

जब वर्ल्ड क्रिकेट की ऑल टॉइम इलेवन खिलाड़ियों की लिस्ट बनाते हैं तो उन खिलाड़ियों को अपनी लिस्ट में जगह जरुर देते हैं जिन्होंने मजबूत टीमों के खिलाफ घरेलू और विदेशी सरजमीं पर रन अच्छा प्रदर्शन किया हो। इन सबमें अगर किसी खिलाड़ी ने दुनिया की सबसे मजबूत टीम के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन किया हो या फिर वो उसकी पसंदीदा टीम बन गई हो तो निश्चित उस खिलाड़ी को प्लेइंग इलेवन में जगह मिलेगी।

इसका उदाहरण है इंग्लैंड के खिलाफ ब्रैडमैन की बल्लेबाजी, वेस्टइंडीज के खिलाफ गावस्कर, भारत और श्रीलंका के खिलाफ एंडी फ्लावर। मेरे लिए इन सबमें वीवीएस लक्ष्मण की ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली गई पारियां सबसे ज्यादा अच्छी लगती हैं। अजेय ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ लक्ष्मण ने काफी रन बनाए। शेन वॉर्न ने इस बात का जिक्र किया था कि सचिन तेंदुलकर उनके सपने में आते हैं लेकिन देखा जाए तो वीवीएस लक्ष्मण ने भी वॉर्न के खिलाफ कम रन नहीं बनाए।

अपने दिनों में लक्ष्मण बल्लेबाजी करते हुए काफी खूबसूरत लगते थे। कलाइयों का जिस तरह से वो उपयोग करते थे वो अद्भुत था। भारतीय पिचों पर लक्ष्मण ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ काफी सफल रहे हैं। 57.04 की औसत से लक्ष्मण ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत में 1198 रन बनाए। आइए आपको बताते हैं वीवीएस लक्ष्मण की भारत में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 5 बेहतरीन पारियों के बारे में।

भारत में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वीवीएस लक्ष्मण की 5 बेहतरीन पारियां

#1. 2008 में दिल्ली टेस्ट की पहली पारी में नाबाद 200 रन

वीवीएस लक्ष्मण
वीवीएस लक्ष्मण

दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान की बैटिंग पिच पर भारतीय टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। सहवाग और द्रविड़ का विकेट जल्दी गिर गया। 27 रनों पर भारत के 2 विकेट गिर चुके थे। इसके बाद सचिन तेंदुलकर और गौतम गंभीर ने पारी को संभाला और टीम का स्कोर 157 रन तक ले गए। 157 रनों पर तीसरा विकेट गिरने के बाद वीवीएस लक्ष्मण बल्लेबाजी करने के लिए आए।

भारतीय टीम सीरीज में 1-0 से आगे थी और उन्हें पता था कि ऑस्ट्रेलियाई टीम कमबैक करने में माहिर है। इन हालात में मैच किसी भी तरफ मुड़ सकता था, ऑस्ट्रेलिया भी जीत सकती थी और भारत भी जीत सकता था। ऑस्ट्रेलियाई टीम ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी भारत को 300 रनों तक सीमित करने के लिए। मिचेल जॉनसन और ब्रेटली इस मिशन पर लग गए।

भारत की तरफ से ऑस्ट्रेलियाई आक्रमण को नेस्तनाबूद करने का जिम्मा वेरी-वेरी स्पेशल लक्ष्मण ने उठाया। लक्ष्मण ने जमकर बल्लेबाजी करते हुए दोहरा शतक ठोंक दिया। उन्होंने तेज गेंदबाजों को अपना निशाना बनाया और उन पर कवर ड्राइव ऐसे खेले जैसे कि नेट में बल्लेबाजी की प्रैक्टिस कर रहे हों। लक्ष्मण के बेहतरीन दोहरे शतक की बदौलत भारत ने अपनी पारी में 613 रनों का स्कोर खड़ा किया, लेकिन मैच ड्रॉ हो गया। उस मैच में गौतम गंभीर ने भी दोहरा शतक लगाया था लेकिन उस मैच को लक्ष्मण के शानदार शॉट और गेंदबाजी आक्रमण की धज्जियां उड़ाने के लिए जाना जाएगा।

1 / 5 NEXT
Published 24 Nov 2020, 08:43 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now