'मैं कमरे में जाकर रोता था'- शुरुआती दिनों में धोनी के साथ अपनी तुलना को लेकर ऋषभ पंत ने किया चौंकाने वाला खुलासा 

Neeraj
New Zealand Black Caps v India - International T20 Game 2
New Zealand Black Caps v India - International T20 Game 2

भारतीय टीम (Team India) के स्टार विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत (Rishabh Pant) दिसंबर 2022 में एक कार दुर्घटना के शिकार हो गए थे, जिसके बाद से वो एक्शन से दूर हैं। पंत ने पहली बार अपने एक्सीडेंट को लेकर खुलकर बात की और खुलासा किया कि एक समय पर उन्हें लगा था कि दुनिया में अब उनका समय पूरा हो चुका है। स्टार स्पोर्ट्स के शो 'बिलीव' पर बाएं हाथ के बल्लेबाज ने ये सारी बातें कही, साथ में उन्होंने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर के शुरुआती दिनों में एमएस धोनी (MS Dhoni) से होने वाली तुलना के दौरान की अपनी स्थिति के बारे में भी बताया।

ऋषभ पंत की तुलना हमेशा से धोनी से होती रही है। उन्हें करियर के शुरुआत में काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था, क्योंकि वह विकेटकीपर-बल्लेबाज के तौर पर दिग्गज धोनी को रिप्लेस करने आये थे। इस पर बात करने हुए पंत कहा,

मुझे पहले तो यही समझ नहीं आता कि इस तरह के सवाल खड़े क्यों हुए थे। मैं बस टीम में शामिल ही हुआ था और लोग रिप्लेसमेंट की बातें करने लगे थे। किसी युवा खिलाड़ी को लेकर इस तरह के सवाल खड़े ही क्यों होते हैं? किसी खिलाड़ी ने पांच मैच खेले हैं और किसी ने 500 मैच खेले हैं। यह काफी लम्बा सफर है, तो काफी उतार-चढाव देखे हैं, ऐसे में कोई तुलना होनी ही नहीं चाहिए।

उन्होंने आगे कहा,

20-21 साल की उम्र में, मैं जब कमरे में जाता था तो खूब रोता था। उस दौरान मैं इतने स्ट्रेस में रहता था कि सांस भी नहीं ले पाता था। मैं काफी दबाव महसूस करता था और समझ नहीं पाता था कि क्या करूँ। मैंने मोहाली में स्टंपिंग का एक चांस मिस किया था और लोग धोनी-धोनी चिल्लाने लगे थे।

गौरतलब है कि ऋषभ पंत पिछले काफी समय से नेशनल क्रिकेट अकादमी में अपनी फिटनेस हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं और आईपीएल 2024 के दौरान उनकी मैदान पर वापसी की पूरी उम्मीद है।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar