Create
Notifications

'हम बहुत भाग्‍यशाली हैं कि राहुल द्रविड़ से अपना क्रिकेट सीख रहे हैं'

राहुल द्रविड़
राहुल द्रविड़
Vivek Goel

भारतीय टीम श्रीलंका के खिलाफ उसके घर में सीमित ओवर खेलने की तैयारी में जुटी हुई है। भारत की प्रमुख टीम यूके दौरे पर है, जिसके बाद अनुभवी और युवाओं के मिश्रण वाली टीम श्रीलंका दौरे के लिए चुनी गई। श्रीलंका गई भारतीय टीम की कमान शिखर धवन को सौंपी गई है जबकि हेड कोच पूर्व दिग्‍गज बल्‍लेबाज राहुल द्रविड़ को बनाया गया है।

भारतीय टीम के हेड कोच रवि शास्‍त्री इस समय प्रमुख टीम के साथ यूके में हैं। ऐसे में श्रीलंका दौरे के लिए बीसीसीआई ने राहुल द्रविड़ को हेड कोच नियुक्‍त किया है। श्रीलंका दौरे पर छह अनकैप्‍ड खिलाड़‍ियों का चयन किया गया है और सभी द्रविड़ के मार्गदर्श में काम करने को लेकर उत्‍सुक हैं।

राहुल द्रविड़ को भारतीय प्रतिभाओं को आकार देने और उन्‍हें आगे बढ़ाने का श्रेय हासिल है। इसी कड़ी में देवदत्‍त पडिक्‍कल और संजू सैमसन ने दिग्‍गज बल्‍लेबाज के साथ काम करने के अपने अनुभव को साझा किए हैं।

दोनों बल्‍लेबाजों ने घरेलू क्रिकेट और आईपीएल में शानदार प्रदर्शन करके स्‍टारडम हासिल किया और अब द्रविड़ के साथ नई यात्रा पर चलने को लेकर उत्‍साहित हैं।

संजू सैमसन ने स्‍टार स्‍पोर्ट्स के शो फॉलो द ब्‍ल्‍यूज से बातचीत में कहा, 'भारत ए और जूनियर टीम के प्रत्‍येक खिलाड़ी के भारतीय टीम में जाने का रास्‍ता रहा राहुल द्रविड़। हम बहुत भाग्‍यशाली हैं कि उनसे क्रिकेट सीखने को मिला। मुझे याद है कि राजस्‍थान रॉयल्‍स के ट्रायल्‍स पर एक दिन गया और अच्‍छी बल्‍लेबाजी की। तब द्रविड़ मेरे पास आए और पूछा कि तुम मेरी टीम के लिए खेलोगे?'

सैमसन ने आगे कहा, 'तो वो मेरी जिंदगी का सबसे बड़ा पल था और मैं वो कभी नहीं भूल सकता हूं। यह दर्शाता है कि वह कितने महान व्‍यक्ति हैं और मुझे उनका साथ बहुत अच्‍छा लगता है।'

राहुल द्रविड़ का मेंटर होना शानदार भावना: देवदत्‍त पडिक्‍कल

देवदत्‍त पडिक्‍कल ने राहुल द्रविड़ के बारे में बात करते हुए कहा, 'हम एक ही स्‍कूल से हैं। मैं उनसे पहली बार स्‍कूल के स्‍पोर्ट्स डे इवेंट में मिला था। मैंने उन्‍हें तब बुके दिया था- तब मैंने उनसे पहली बार बातचीत की थी। मैं हमेशा इस बात से आश्‍चर्यचकित रहता हूं कि वह कितने शांत और साधारण व्‍यक्ति हैं।'

पडिक्‍कल ने आगे कहा, 'क्रिकेट में इतना कुछ हासिल करने के बावजूद इतना डाउन टू अर्थ होना, विनम्र रहना, हर किसी से अच्‍छे से बातचीत करना, यह देखना शानदार है। द्रविड़ को अपना कोच पाकर, आपको किसी और चीज की जरूरत नहीं है। उन्‍हें आपके पीछे मेंटर के रूप में देखना, यह शानदार भावना है। उम्‍मीद है कि मैं उनसे कई चीजें सीखूंगा।'


Edited by Vivek Goel

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...