Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

वेस्टइंडीज टीम इंग्लैंड के खिलाफ 'ब्लैक लाइव्स मैटर' के लोगो पहनेगी

  • वेस्टइंडीज टीम इंग्लैंड में तीन टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए गई है
  • नस्लभेद के खिलाफ वेस्टइंडीज टीम ने एक बड़ा अभियान छेड़ा है
Naveen Sharma
FEATURED WRITER
न्यूज़
Modified 29 Jun 2020, 15:52 IST

 वेस्टइंडीज टीम
वेस्टइंडीज टीम

वेस्टइंडीज टीम के खिलाड़ियों ने नस्लवाद के खिलाफ अभियान काफी जोर-शोर से छेड़ा है। इसी कड़ी में अब वेस्टइंडीज टीम इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में 'ब्लैक लाइव्स मैटर' के लोगो पहनकर मैदान पर उतरेगी। वेस्टइंडीज टीम के खिलाड़ी ब्लैक समुदाय से आते हैं और इंग्लैंड में जॉर्ज फ्लॉयड नामक शख्स की पुलिस कस्टडी में मौत के बाद उन्होंने एक अभियान छेड़ दिया।

वेस्टइंडीज टीम के खिलाड़ी ब्लैक लैअव्स मैटर के लोगो जागरूकता बढ़ाने के लिए पहनेंगे। कप्तान जेसन होल्डर ने कहा कि जागरूकता बढ़ाना और आगे आकर बताना हमारा फर्ज बनता है। उन्होंने एकजुटता दिखाने पर भी बल दिया।

यह भी पढ़ें: वीरेंदर सहवाग के करियर की 3 बेस्ट पारियों पर एक नजर

वेस्टइंडीज टीम के लिए अहम क्षण

 वेस्टइंडीज टीम
वेस्टइंडीज टीम

ईएसपीएनक्रिकइन्फो के हवाले से जेसन होल्डर ने कहा है कि यह वेस्टइंडीज क्रिकेट के साथ ही खेलों के लिए भी एक अहम हिस्सा है। दुनिया में जो हो रहा है उसके खिलाफ तथा इंसान की समानता के लिए हम लड़ेंगे, हालांकि हम यहाँ ट्रॉफी जीतने के लिए आए हैं। इससे पहले होल्डर ने यह भी कहा था कि नस्लभेद के खिलाफ डोपिंग और फिक्सिंग जैसी कार्रवाई करनी चाहिए।

गौरतलब है कि डैरेन सैमी ने नस्लभेद के खिलाफ छेड़े अभियान में इशांत शर्मा के एक पुराने इन्स्टाग्राम पोस्ट भी सामने रखकर सवाल पूछा था। उन्होंने कहा था कि इरादतन ऐसा किया गया है, तो उन लोगों को माफी मांगनी चाहिए। हालाँकि कुछ ट्वीट ऐसे भी हैं जिनमें खुद डैरेन सेमी अपने ऊपर नस्लभेदी टिपण्णी करके मजाक कर रहे थे। क्रिस गेल ने भी खुद को नस्लवाद का विक्टिम बताते हुए कहा कि मुझे भी कई बार नस्लीय नजरों से देखा जाता रहा है।

वेस्टइंडीज की टीम इंग्लैंड दौरे पर तीन टेस्ट मैच खेलने के लिए गई हुई है। अगले महीने पहले टेस्ट मैच की शुरुआत होनी है। साउथैम्पटन तथा मैनचेस्टर में दोनों देशों के बीच तीन टेस्ट की सीरीज खेली जाएगी। कोरोना संकटकाल में क्रिकेट की एक बाद फिर बहाली होगी। मार्च से किसी भी देश ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेला है। सभी टीमों के खिलाड़ियों ने लॉक डाउन के कारण घरों में ही समय बिताया है। विंडीज टीम के कप्तान ने कहा कि हम मूर्ख नहीं हैं लेकिन किसी को तो खेलने के लिए पहल करनी थी इसलिए हम आए।

Published 29 Jun 2020, 15:52 IST
Advertisement
Fetching more content...
Get the free App now
❤️ Favorites Edit