जब रविन्द्र जडेजा ने मैदान पर चीते की तरफ फील्डिंग करते हुए शोएब मलिक को रनआउट किया

आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी में भारतीय टीम ने रविवार को खेले गए अपने पहले मुकाबले में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को बारिश से प्रभावित मैच में डकवर्थ एंड ल्युईस प्रणाली के तहत 124 रनों से हरा दिया। टॉस हारकर भारत ने पहले खेलते हुए बारिश के बाद निर्धारित 48 ओवरों में 3 विकेट पर 319 रन बनाए। पुनः बारिश के बाद पाक को 41 ओवर में 256 रनों का संशोधित लक्ष्य दिया गया लेकिन उनकी पूरी टीम 164 रनों पर ढेर हो गई। भारतीय टीम ने बल्लेबाजी, गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण तीनों विभागों में शानदार प्रदर्शन किया। विपक्षी टीम के फील्डरों की फील्डिंग भी खराब रही और गेंदबाजी के बाद बल्लेबाजी में भी वे फिसड्डी साबित हुए। भारतीय टीम के सभी फील्डरों ने अच्छा काम किया लेकिन रविन्द्र जडेजा द्वारा शोएब मलिक को किया गया रन-आउट सबसे ख़ास रहा। उन्होंने पॉइंट पर फील्ड करते हुए सीधा थ्रो लगाकर मलिक को वापस पवेलियन लौटा दिया। पाकिस्तानी पारी के चौबीसवें ओवर की दो गेंदों के बाद तीन विकेट पर 114 रन स्कोर था और शोएब मलिक इस ओवर की तीसरी गेंद का सामना कर रहे थे। उमेश यादव की इस गेंद को उन्होंने हल्के हाथों से गली की तरफ धकेला, तभी जडेजा ने झपटते हुए गेंद को पकड़ लिया। मलिक रन के लिए जा चुके थे लेकिन जब तक वे वापस आते, जडेजा ने विकेटों में सीधा थ्रो कर दिया। जडेजा ने लगभग 30 गज के सर्कल के पास से यह थ्रो फेंककर सभी को दांतों तले उंगलियां दबाने पर मजबूर कर लिया।

गौरतलब है कि जडेजा को अपनी चीते जैसी फील्डिंग के लिए ही जाना जाता है। आईपीएल में भी उन्होंने मुंबई इंडियंस के खिलाफ हुए मुकाबले में कुछ इसी तरह का कार्य करते हुए दो सीधे थ्रो करते हुए मैच को सुपर ओवर तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई थी। शोएब मलिक को शायद यह अंदाज नहीं होगा कि जडेजा ऐसा भी कर सकते हैं। भारत द्वारा मुकाबला जीतने के बाद उन्हें 2 अंक मिले हैं।