Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

सचिन तेंदुलकर vs विराट कोहली: वनडे क्रिकेट का बादशाह कौन है?

sachin and virat
varsha
ANALYST
Modified 08 Mar 2019, 16:00 IST
फ़ीचर
Advertisement

भारतीय क्रिकेट के इतिहास में वैसे तो कई बड़े दिग्गज खिलाड़ी हुए। किंतु वनडे क्रिकेट फॉर्मेट में सिर्फ दो क्रिकेटर ने अपने प्रदर्शन से सभी का दिल जीता। इसमें से एक क्रिकेटर पूर्व बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर हैं जबकि दूसरे क्रिकेटर भारतीय टीम के वर्तमान कप्तान विराट कोहली है। इन दोनों ही खिलाड़ी ने अपने शानदार प्रदर्शन से अपने देश का नाम रोशन किया। किंतु लोग फिर भी यह जानना चाहते हैं, कि इन दोनों में से वनडे क्रिकेट का बादशाह कौन है? यह जानने के लिए हम कुछ तथ्यों पर नजर डालने वाले है, तो आइए जान लेते हैं।

224 वनडे मुकाबले खेलने के बाद तुलना

विराट कोहली

रन- 10686 औसत- 60.03 स्ट्राइक रेट- 92.61 शतक- 40 अर्धशतक- 49

सचिन तेंदुलकर

रन- 8350 औसत- 42.6 स्ट्राइक रेट- 86.45 शतक- 23 अर्धशतक- 44

244 वनडे मुकाबले खेलने के बाद आंकड़ो का तुलनात्मक अध्ययन किया जाए। तो निश्चित रूप से विराट कोहली सचिन तेंदुलकर की तुलना में काफी आगे हैं। किंतु दोनों ही टीमें अपने बलबूते पर टीम इंडिया को कई मुकाबलों में जीत दिलवाई है। यह दोनों ही ऐसे बल्लेबाज है जो यदि पिच पर टिक गए, तो अर्धशतक लगाने के बाद बिना दिक्कत के अपना शतक पूरा करते हैं। आज किसी भी क्रिकेट टीम का बॉलिंग अटैक पहले की तुलना में काफी कमजोर हो चुका है, जिस कारण बल्लेबाजों द्वारा रन बनाने की गति भी बढ़ चुकी है। 1989 से लेकर 1999 तक जहां सभी टीमों के खिलाड़ियों ने वनडे क्रिकेट में कुल 288 शतक लगाए थे, जबकि 2008 से लेकर 2018 तक सभी टीमों के खिलाड़ियों ने मिलकर वनडे क्रिकेट में 728 शतक लगा दिए।

रन चेज करने का मास्‍टर कौन?

सचिन तेंदुलकर

रन चेज करते हुए औसत रन - 42.33 स्ट्राइक रेट- 88.44

Advertisement

विराट कोहली

रन चेज करते हुए औसत रन - 68.44 स्ट्राइक रेट- 94.51

इस मामले में भी सचिन तेंदुलकर को विराट कोहली कहीं अधिक पीछे छोड़ देते हैं। लक्ष्य का पीछा करते हुए कोहली ने 21 शतक लगाए हैं। साथ ही लक्ष्य का पीछा करते हुए 168 मुकाबलों में 28 बार वे नॉट आउट रहे। सचिन तेंदुलकर अधिकांश मौके में भारतीय टीम के लिए पारी की शुरुआत करते थे, जिस कारण उनका मैच के अंत तक टिक पाना काफी मुश्किल था।

आईसीसी टूर्नामेंट में बल्लेबाजी करने की क्षमता

वर्ल्ड कप और चैंपियंस ट्रॉफी में खेलते हुए कोहली का औसत रन स्कोर 55.8 रन रहा। इस दौरान उन्होंने 29 मुकाबलों में 6 शतक और 2 शतक लगाए। दूसरी तरफ सचिन तेंदुलकर ने वर्ल्ड कप और चैंपियंस ट्रॉफी में खेलते हुए 52.4 की औसत से 2700 से अधिक रन बनाए, जिसमें 7 शतक और 16 अर्धशतक शामिल हैं।

सचिन तेंदुलकर ने विराट कोहली की तुलना में कहीं ज्यादा वर्ल्ड कप मुकाबले खेले हैं। सचिन तेंदुलकर ने 1996, 2003 और 2011 के वर्ल्ड कप में भारत की ओर से सर्वाधिक रन बनाए। जबकि कोहली ने सिर्फ 2011 और 2015 का वर्ल्ड कप ही खेला है और भविष्य में भारत की और से उन्‍हें और भी वर्ल्ड कप मुकाबले खेलने का मौका मिलेगा।

तो बात साफ है कि दोनों क्रिकेटर अपने दौर के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज है, जहां एक तरफ सचिन तेंदुलकर को क्रिकेट का भगवान माना जाता है। वहीं इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता कि विराट कोहली, सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड तोड़ने के काफी करीब है।

Hindi Cricket Newsसभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

Published 08 Mar 2019, 15:59 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit