Create

वर्ल्ड कप 2019: 3 खिलाड़ी जिनका नंबर 4 बल्लेबाज़ी क्रम से पत्ता कट सकता है

Image result for rishabh pant, ajinkya rahane

क्रिकेट का सबसे प्रतिष्ठित टूर्नामेंट - विश्वकप 2019 अगले महीने से शुरू होने जा रहा है, और सभी टीमें अपनी तैयारियों को अंतिम रूप देने में लगी हैं।

वहीं भारतीय टीम की बात करें तो मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने घोषणा की है कि वह 15 अप्रैल को विश्व कप के लिए टीम की घोषणा करेंगे। इसको लेकर भारतीय प्रशंसकों में भारी उत्साह है।

जबकि कुछ खिलाड़ियों का टीम में जगह बनाना निश्चित है लेकिन कुछ ऐसे खिलाड़ी भी हैं जिनका विश्व कप टीम का हिस्सा बनने पर अभी संशय बरकरार है। विशेष रूप से टीम में नंबर 4 के स्लॉट पर किसी अदद बल्लेबाज़ की तलाश अब भी ज़ारी है।

युवराज सिंह के टीम से बाहर होने पर टीम इंडिया अभी तक उनका कोई उपयुक्त विकल्प नहीं ढूंढ पाई है।हालांकि, नंबर 4 स्लॉट के लिए केएल राहुल और विजय शंकर संभावित विकल्प हो सकते हैं। लेकिन इससे पहले इस स्लॉट के लिए कुल 5 दावेदार थे पर उनके हालिया प्रदर्शन को देखते हुए अब उनमें से तीन खिलाड़ियों की दावेदारी लगभग खत्म हो गई है।

तो आइए एक नज़र डालते हैं इन तीन खिलाड़ियों पर:

#3. ऋषभ पंत

Related image

ऋषभ पंत ने टेस्ट प्रारूप में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शानदार शतकों के साथ अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर की शुरुआत की लेकिन वनडे और टी-20 प्रारूप में वह अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने में नाकाम रहे हैं।

हालांकि, पंत का कहना है कि सीमित ओवर प्रारूपों में उचित मौके ना मिलने जी वजह से वह अपना नैसर्गिक खेल नहीं दिखा पाए। आईपीएल शुरू होने से पहले उन्हें भारत की और से कुछ वनडे और टी-20 खेलने का मौका ज़रूर मिला तांकि वह विश्व कप के लिए नंबर 4 पर अपनी दावेदारी मजबूत कर सकें लेकिन वे इन मौकों का लाभ उठाने में नाकाम रहे।

अपनी 4 वनडे पारियों में पंत ने केवल 20 की औसत से रन बनाए हैं। सबसे अहम बात यह है कि वह क्रीज पर लंबे समय तक टिक कर खेलने में नाकाम रहे हैं। इसलिए उनका भारत की विश्व कप टीम का हिस्सा बन पाना मुश्किल होगा।

वहीं, दिनेश कार्तिक पंत की तुलना में एक बेहतर फिनिशर हैं और सम्भवतः दूसरे विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में टीम इंडिया का हिस्सा बन सकते हैं।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं

#2. अजिंक्य रहाणे

Image result for ajinkya rahane odi

अजिंक्य रहाणे कभी भारत की वनडे टीम के बेहद महत्वपूर्ण सदस्यों में से एक थे लेकिन खराब फॉर्म के कारण बाहर होने के बाद उन्हें दोबारा वापसी करने का एक और मौका मिला जब भारत के दक्षिण अफ्रीका दौरे में वह टीम इंडिया का हिस्सा बने पर इस दौरे में भी वह अपेक्षा अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर सके।

रहाणे ने अपना आखिरी वनडे 2018 की शुरुआत में खेला था लेकिन उसके बाद उन्हें कोई मैच खेलने का मौका नहीं मिला। वहीं आईपीएल में भी उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा जिसकी वजह से उन्हें टीम में शामिल होना का मौका नहीं मिला।

इससे पहले वह नंबर 4 पर टीम इंडिया के नियमित खिलाड़ी थे। इस समय टीम को नंबर 4 पर किसी ऐसे बल्लेबाज़ की ज़रूरत है जो मध्य और आखिरी ओवरों में तेज़ी से रन बना सके और स्कोर को कम से कम 300 के पार पहुँचा सके।

पूर्व भारतीय उपकप्तान की वनडे स्ट्राइक रेट 78 से भी कम है, इसलिए उनका विश्व कप टिकट कटा पाना संभवतः मुमकिन नहीं होगा।

#1. अंबाती रायुडू

Image result for ambati rayudu odi

21, 21, 0, 1, 5, 28, 2, 18, 13, 15.ये अंबाती रायुडू की आखिरी 10 पारियों के स्कोर हैं। इनमें से छह आईपीएल से, तीन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू श्रृंखला से और एक घरेलू मैच से है। इन आंकड़े से साफ ज़ाहिर है कि रायुडू पिछले कुछ समय से फॉर्म में नहीं हैं और अपने गलत शॉट सिलेक्शन की वजह से उन्हें काफी आलोचना भी झेलनी पड़ी है।

फिलहाल आईपीएल में चेन्नई सुपरकिंग्स की तरफ से खेलते हुए वह अपने पिछले सीज़न के प्रदर्शन जो दोहराने में नाकाम रहे हैं। तो इसी कारण से उनके विश्व कप में भारतीय टीम का हिस्सा बनने और नंबर 4 पर बल्लेबाज़ी करने के संभावित विकल्प नहीं हैं।

उन्होंने तेज़ गेंदबाज़ों के खिलाफ रन बनाने के लिए संघर्ष किया है। वह मध्यम गति के साथ सहज है लेकिन 130 किमी प्रति घँटे से ज़्यादा की स्पीड से आने वाली गेंद को खेलने में उन्हें परेशानी होती है। विश्व कप में, जहाँ मिचेल स्टार्क और कैगिसो रबाडा जैसे तेज़ गेंदबाज़ होंगे, रायुडू को उनका सामना करने में मुश्किल हो सकती है।

विराट कोहली को नंबर 4 पर किसी ऐसे खिलाड़ी की तलाश है जो निरंतर अच्छा प्रदर्शन कर सके और गेंद के साथ भी उपयोगिता साबित कर सके। तो ऐसे में रायुडू की जगह विजय शंकर नंबर 4 स्लॉट के लिए एक बढ़िया विकल्प साबित हो सकते हैं।

Quick Links

Edited by सावन गुप्ता
Be the first one to comment