Create

वर्ल्ड कप में डेब्यू कर रहे खिलाड़ियों की सर्वश्रेष्ठ प्लेइंग इलेवन

Enter caption

वर्ल्ड कप हमेशा से ही युवा खिलाड़ियों के लिए अपने कौशल का प्रदर्शन करने के लिए एक आदर्श मंच रहा है। इस टूर्नामेंट में पूरा क्रिकेट जगत हर खिलाड़ी के प्रदर्शन को देखता है और नाजुक परिस्थितियों में अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाडियों को अपार लोकप्रियता और पहचान मिलती है।

विगत वर्षों से हमने वर्ल्ड कप के मंच पर कई उभरते खिलाड़ियों को देखा है। उनमें से कुछ गुमनामी में बह गए, जबकि उनमें से कुछ अपार लोकप्रियता हासिल किया। इस दशक के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज एवं भारतीय कप्तान विराट कोहली ने 2011 में वर्ल्ड कप की शुरुआत की और बांग्लादेश के खिलाफ पहले मैच में ही अपना पहला एकदिवसीय शतक जड़ा। उन्होंने उस टूर्नामेंट के फाइनल में भी गौतम गंभीर के साथ अच्छी साझेदारी की थी। उन्होंने ऐसे महत्वपूर्ण समय में खेलते हुए अपार अनुभव प्राप्त किया और अगले कुछ वर्षों में ही वे सर्वश्रेष्ठ एकदिवसीय बल्लेबाज बन गए।

इस वर्ल्ड कप में हम कुछ अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों को वर्ल्ड कप में डेब्यू करते हुए देखने जा रहे हैं। आज हम ओस वर्ल्ड कप में डेब्यू कर रहे खिलाड़ियों को मिलाकर सर्वश्रेष्ठ प्लेइंग इलेवन बनाने जा रहे हैं।

#सलामी बल्लेबाज- जॉनी बेयरस्टो और फखर ज़मान:

Enter caption

इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो और पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाज फखर ज़मान इस साल अपना पहला वर्ल्ड कप खेलने जा रहे हैं। दोनों ही खिलाड़ी पिछले कुछ साल से शानदार फॉर्म में नजर आ रहे हैं। जॉनी बेयरस्टो ने अब तक 63 वन-डे मैचों में हिस्सा लेते हुए 47.53 की औसत से 2329 रन बनाए हैं। जॉनी बेयरस्टो इंग्लैंड के लिए मध्यक्रम में बल्लेबाजी करते हैं लेकिन आईपीएल 2019 में उन्होंने सनराइज़र्स हैदराबाद के लिए सलामी बल्लेबाजी की थी।

इसके अलावा फखर ज़मान ने 36 वन-डे मैचों में 51.5 की औसत से 15642 रन बनाए हैं। फखर ज़मान ने साल 2017 में इंग्लैंड में खेले गए चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में भारत के खिलाफ शानदार शतकीय पारी खेली थी। जिसकी बदौलत पाकिस्तान ने पहली बार चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब जीता था। इसके अलावा फखर ज़मान वन-डे क्रिकेट में दोहरा शतक भी जड़ चुके हैं।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं

#मध्यक्रम बल्लेबाज: शाई होप, बाबर आज़म और केदार जाधव:

Enter caption

वेस्टइंडीज के विकेटकीपर बल्लेबाज इस समय अच्छे फॉर्म में चल रहे हैं। वे पिछले साल भारत के खिलाफ भी अच्छी बल्लेबाजी का प्रदर्शन किया था। शाई होप इस साल अपना पहला वर्ल्ड कप खेलने जा रहे हैं। 25 वर्षीय शाई होप इस समय आईसीसी वन-डे रैंकिंग में चौथे स्थान पर हैं। शाई होप ने 52 वन-डे मैचों में 49.93 की औसत से 2247 रन बनाए हैं जिसमें 6 शतक और 10 अर्धशतक शामिल है।

पाकिस्तान के बाबर आज़म इस समय आईसीसी वन-डे रैंकिंग में सातवें स्थान पर हैं जबकि टी20 रैंकिंग में वे पहले स्थान पर हैं। बाबर आज़म इस बार अपना पहला वर्ल्ड कप खेलने जा रहे हैं। बाबर आज़म ने 64 वन-डे मैचों में 51.67 की औसत से 2739 रन बनाए हैं जिसमें 9 शतक और 12 अर्धशतक शामिल है।

इसके अलावा 34 वर्षीय बैटिंग ऑलराउंडर केदार जाधव मध्यक्रम में सबसे अच्छे बल्लेबाज साबित हो सकते हैं। उन्होंने अब तक 59 वन-डे मैचों की 40 पारियों में 43.48 की औसत से 1174 रन बनाए हैं जिसमें 2 शतक और 5 अर्धशतक शामिल है।

#ऑलराउंडर- बेन स्टोक्स और हार्दिक पांड्या:

Enter caption

हार्दिक पांड्या और बेन स्टोक्स इस टीम में ऑलराउंडर होंगे। दोनों खिलाड़ी वर्ल्ड कप में अहम भूमिका निभाएंगे और अपने-अपने देशों के लिए फिनिशर का काम करेंगे। बल्लेबाजी करते हुए हार्दिक पांड्या ने 45 वनडे मैचों की 29 पारियों में 731 रन बनाए हैं। उनका स्ट्राइक रेट 116.59 है जो दर्शाता है कि स्लॉग ओवरों में वे कितना खतरनाक हो सकते हैं। उन्होंने चैंपियंस ट्रॉफी 2017 के फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ आक्रामक बल्लेबाजी का प्रदर्शन किया था। यह टूर्नामेंट इंग्लैंड और वेल्स में ही खेला गया था। इसके अलावा हार्दिक पांड्या ने गेंदबाजी करते हुए 44 पारियों में 39.73 की औसत से 44 विकेट भी चटकाए हैं।

इसके अलावा अंग्रेजी ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने बल्लेबाजी करते हुए 84 वन-डे मैचों की 71 पारियों में 37.58 की औसत से 2217 रन बनाए हैं, जिसमें 3 शतक और 15 अर्धशतक शामिल है। गेंदबाजी करते हुए उन्होंने 69 पारियों में 42.44 की औसत से 63 विकेट चटकाए हैं।

#गेंदबाज- राशिद खान और कुलदीप यादव (स्पिनर), कगिसो रबाडा और जसप्रीत बुमराह (तेज गेंदबाज):

Enter caption

राशिद खान और कुलदीप यादव इस टीम में दो प्राथमिक स्पिनर होंगे। दोनों गेंदबाजों ने पिछले कुछ वर्षों से अपने-अपने देश के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है। कुलदीप यादव ने अब तक 44 वनडे मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने 21.75 की औसत से 87 विकेट लिए हैं। उनके करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 6/25 है जो उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ इंग्लैंड की सरजमीं पर ही किया था। दूसरी ओर, राशिद खान ने 58 एकदिवसीय मैचों में 15.75 की शानदार औसत के साथ 125 विकेट हासिल किए हैं।

तेज गेंदबाजों की बात करें तो वर्तमान में, दक्षिण अफ्रीका के कगिसो रबाडा और भारत के जसप्रीत बुमराह निर्विवाद रूप से क्रिकेट के सभी प्रारूपों में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाजों में से दो हैं। उन्होंने विभिन्न परिस्थितियों में खुद को साबित किया है और अपने-अपने देशों के लिए तेज गेंदबाजी विभाग की अगुवाई कर रहे हैं। दोनों 2019 में पहली बार विश्व कप में हिस्सा लेंगे। कगिसो रबाडा ने अब तक 66 एकदिवसीय मैच खेले हैं और 106 विकेट चटकाए हैं, जबकि जसप्रीत बुमराह ने 49 मैचों में 85 विकेट चटकाए हैं। दोनों खिलाडियों ने इस साल आईपीएल में भी उम्दा प्रदर्शन किया था।

Quick Links

Edited by निशांत द्रविड़
Be the first one to comment