Create
Notifications
Get the free App now
Favorites Edit
Advertisement

विश्व कप में तेज गेंदबाज ज्यादा मददगार साबित नहीं हो सकते हैं: ब्रेट ली

  • वॉर्नर और स्मिथ के आ जाने से संपूर्ण हो गई है ऑस्ट्रेलिया
Richa Gupta
ANALYST
न्यूज़
Modified 10 May 2019, 21:38 IST

Enter caption

ऑस्ट्रेलिया टीम में डेविड वॉर्नर और स्टीव स्मिथ की वापसी ने काफी आत्मविश्वास जगा दिया है। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने भी यही बात दोहराई है। उन्होंने कहा है कि हम अब विश्व कप के लिए मजबूत हो गए हैं क्योंकि फिर से हमें डेविड वॉर्नर और स्टीव स्मिथ मिल गए हैं। इसलिए कप्तान आरोन फिंच को घबराने की कोई जरूरत नहीं है। ऑस्ट्रेलिया के कप्तान फिंच इस वक्त झाई रिचर्डसन की चोट से काफी परेशान हैं । इसके अलावा, ब्रेट ली ने इंग्लैंड की पिचों को लेकर भी अपना अनुभव शेयर किया।

ब्रेट ली ने कहा कि हमें पहले से यह धारणा नहीं बनानी चाहिए कि इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप में सिर्फ तेज गेंदबाज ही कारगर साबित होंगे। हमें इस बात को भी ध्यान में रखना होगा कि विश्व कप किस वक्त हो रहा है। वो समय जून और जुलाई का होगा। उस वक्त विकेट तेज गेंदबाजों के लिए ज्यादा मददगार साबित नहीं होगा। बहुत से लोगों का यही मानना है कि इंग्लैंड सिर्फ तेज गेंदबाजों के लिए मुफीद होगा लेकिन ऐसा जरूरी नहीं है। मुझे लगता है कि तेज गेंदबाज नई गेंद से अच्छा करेंगे लेकिन जब गेंद की चमक कम हो जाएगी तो गेंदबाजों को काफी मुश्किल का सामना करना पड़ेगा।

विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम की संभावनाओं के बारे में ब्रेट ली ने कहा कि हमारी मौजूदा टीम में इतना दम है कि वो विश्व कप में काफी दूर तक जाएगी। टीम अब वॉर्नर और स्मिथ के आ जाने से संपूर्ण हो गई है। झाई रिचर्डसन चोट की वजह से विश्व कप से बाहर जरूर हो गए हैं लेकिन उनकी जगह पर केन रिचर्डसन आ गए हैं। हमारी टीम के लिए जरूरी होगा कि वहां के हिसाब से जल्दी से जल्दी ढल जाएं। ऑस्ट्रेलिया की वनडे टीम स्मिथ और वॉर्नर के न रहने से पहले पिछड़ गई थी। हालांकि, भारत और पाकिस्तान से सीरीज जीतने के बाद वो फिर से लय में आ गई है।


Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं

Published 10 May 2019, 21:38 IST
Advertisement
Fetching more content...