Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

वर्ल्ड कप 2019: केएल राहुल हो सकते हैं नंबर 4 के लिए परफेक्ट बल्लेबाज

ANALYST
फ़ीचर
235   //    25 May 2019, 17:10 IST

Enter caption

वर्ल्ड कप 2019 के अभ्यास मैचों की शुरुआत हो चुकी है। इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के बीच मैच के साथ 30 मई को टूर्नामेंट का आगाज होगा। डेढ़ माह तक चलने वाले इस टूर्नामेंट में विश्व की 10 सर्वश्रेष्ठ टीमें हिस्सा ले रहीं है। भारतीय टीम अपना पहला मुकाबला 5 जून को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेलेगी। 2011 से लेकर अब तक ये दोनों टीमें वर्ल्ड कप में 2 बार आमने-सामने हो चुकी हैं, जिसमें एक बार दक्षिण अफ्रीका (2011 में) और एक बार भारत (2015 में) ने जीत हासिल किया है।

भारतीय चयनकर्ताओं ने वर्ल्ड कप के लिए चयनित भारतीय टीम में अम्बाती रायडू और ऋषभ पंत को नजरअंदाज करके विजय शंकर और दिनेश कार्तिक को मौका दिया है। मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद की मानें तो विजय शंकर नंबर 4 पर बल्लेबाजी करने के लिए उनकी पहली पसंद हैं। हालांकि उनके वन-डे करियर पर नजर डाला जाए तो उतना अधिक प्रभावशाली नहीं रहा है। उन्होंने 9 मैचों में 33.30 की औसत से मात्र 147 रन बनाए हैं, जबकि उनका सर्वधिक स्कोर 46 रन है। इसके अलावा उन्हें अंतरराष्ट्रीय मैचों का अधिक अनुभव भी नहीं है।

विजय शंकर का यह आईपीएल सीजन भी अच्छा नहीं गुजरा है । उनकी टीम सनराइज़र्स हैदराबाद ने उन्हें कई मैचों में नंबर 4 पर बल्लेबाजी कराया था लेकिन वे उतने प्रभावशाली नहीं दिखे। शुरुआती कुछ मैचों में शंकर अच्छे लय में नजर आए थे लेकिन वे किसी भी पारी को बड़े स्कोर में तब्दील नहीं कर पाए जो कि चिन्ताजनक है।

इसके विपरीत अगर हम केएल राहुल के प्रदर्शन पर चर्चा करें तो वे पिछले 2 सत्रों से आईपीएल में शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। भले ही उनकी टीम प्लेऑफ में जगह नहीं बना पाई हो लेकिन केएल राहुल किंग्स इलेवन पंजाब टीम के बल्लेबाजी विभाग के 'वन मैन आर्मी' साबित हुए। इन सब में सबसे बड़ी बात यह रही कि उन्होंने अपने पारी में अधिक चौके छक्के नहीं जड़े हैं बल्कि स्ट्राइक को रोटेट करने का काम किया है। अगर चौथे स्थान पर बल्लेबाजी के लिए उपयुक्त बल्लेबाज के व्यक्तित्व की बात करें तो केएल राहुल उसमें फिट बैठते हैं। क्योंकि इस क्रम पर बल्लेबाजी करने वाले बल्लेबाज को स्ट्राइक रोटेट करने की कला बखूबी आना चाहिए।

केएल राहुल ने आईपीएल में भी शुरुआत में क्रीज पर आकर थोड़ा समय बिताया और उसके बाद तेज बल्लेबाजी करके अपनी पारी को बड़ा भी बनाया। उन्होंने इस आईपीएल में एक शतक भी जड़ा था। इसके विपरीत विजय शंकर किसी भी पारी को बड़ा नहीं बना पाए जबकि वन-डे फॉर्मेट में यह सबसे जरूरी चीज है। इसका कारण है कि अगर ऊपरी क्रम के बल्लेबाज फ्लॉप साबित हुए तो सारा दारोमदार चौथे नम्बर वाले बल्लेबाज के ऊपर आ जाता है।

Hindi cricket Newsसभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

Tags:
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...