Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

World Cup 2019: विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी के लिए टीम हित सबसे ऊपर होता है

FEATURED WRITER
फ़ीचर
507   //    30 May 2019, 17:43 IST

Enter caption

विराट कोहली को लोग गुस्सेल और अहंकारी और न जाने क्या-क्या चीजें बोलते हैं लेकिन उन्हें इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। कई बार देखा गया है कि वे मैदान पर महेंद्र सिंह धोनी से जिस तरह की बोंडिंग रखते हैं या उनसे मदद लेते रहते हैं, उससे भी उनकी कप्तानी पर सवाल उठाते रहे हैं लेकिन कोहली बिना ध्यान दिए धोनी के साथ अपने सम्बन्ध बनाकर चलते हैं।

पिछले इंग्लैंड दौरे पर रवि शास्त्री ने विराट कोहली और धोनी के मैदान पर संबंधों पर बयान भी दिया था। उन्होंने इस जोड़ी के वार्तालाप और मैदान पर निर्णयों को बेहतरीन करार दिया था। जब एक कप्तान पूर्व कप्तान से लगातार सलाह मशविरा करता है वह एक अच्छी चीज मानी जाती है और कोहली में यह अधिकतर मौकों पर देखने को मिलता है। शास्त्री ने यह भी कहा था कि दोनों टीम के लिए काम करते हैं, उनके लिए टीम सबसे ऊपर होती है और यह दिखता भी है।

विराट कोहली जब बल्लेबाजी करते हैं तो विपक्षी गेंदबाजों के लिए उनका गुस्सा और आक्रामक रुख साफ़ तौर पर नजर आता है। फील्डिंग में भी यह देखा जाता है लेकिन माही के साथ वे बिलकुल अलग होते हैं। बल्लेबाजी में दोनों को एक साथ खेलने के मौके अधिक नहीं मिलते लेकिन फील्डिंग के वक्त वर्तमान कप्तान और पूर्व कप्तान की बातचीत लगातार चलती रहती है। धोनी के बताए पॉइंट पर कोहली निर्णय भी लेते हैं और सफल भी रहे हैं। यही इन दोनों के रिश्ते का सबसे अहम पक्ष है। टीम हित में जो निर्णय दोनों को मिलकर लेना होता है, वे लेते हैं। कोहली को इन सब फैसलों पर मिली सफलता पर किसी तरह के क्रेडिट की भी कोई जरूरत नहीं होती।

भारतीय टीम अगर विश्वकप में जीत प्राप्त करती है और इसका श्रेय महेंद्र सिंह धोनी को भी दिया जाए तो विराट कोहली पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि धोनी और कोहली की साझेदारी कैसी है।

बल्लेबाजी के दौरान रोहित शर्मा की तकनीक ज्यादा अच्छी नहीं होती और वे कई बार जल्दी आउट हो जाते हैं लेकिन कोहली को उन पर भी पूरा भरोसा रहता है। भारतीय कप्तान को यह अच्छी तरह पता है कि जिस दिन रोहित का बल्ला चलेगा, टीम बड़ा स्कोर ही बनाएगी। उनके सम्बन्ध रोहित के साथ भी शानदार है और कई बार ये दोनों क्रीज पर एक साथ ही होते हैं। इसलिए कहा जा सकता है कि इस विश्वकप में विराट कोहली के महेंद्र सिंह धोनी और रोहित शर्मा के साथ बोंडिंग सफलता की बड़ी वजह बन सकती है।


Hindi Cricket Newsसभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

Tags:
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...