Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

क्रिकेट ओपिनियन: महेंद्र सिंह धोनी का समय जा चुका है, युवा खिलाड़ियों को मौके मिलने चाहिए

Naveen Sharma
FEATURED WRITER
फ़ीचर
28 Oct 2019, 15:05 IST

 एमएस धोनी
एमएस धोनी

भारतीय उपमहाद्वीप में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर महान खिलाड़ी बनने के बाद खेल को छोड़ना खिलाड़ी के लिए आसान नहीं होता। खिलाड़ी अपन समय पूरा होने के बाद भी असमंजस में रहता कि उसे संन्यास लेना है या टीम में चुने जाने का इन्तजार करना है। महेंद्र सिंह धोनी भी एक महान खिलाड़ी हैं और उनके साथ भी अब ऐसा ही हो रहा है। 2019 विश्वकप के बाद धोनी टीम से बाहर हैं। कहा गया था कि उनको पीठ में चोट है इसलिए टीम में शामिल नहीं किया जा रहा है।

नए खिलाड़ी टीम में खेल रहे हैं और कई कतार में भी हैं। धोनी को टीम में लेने के लिए उन्हें नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। पहले कई बार देखा गया है कि टीम से बाहर रहने वाला खिलाड़ी घरेलू क्रिकेट खेलकर वापसी करता था, धोनी के मामले में ऐसा नहीं दिख रहा। उन्होंने अपनी चोट की पुष्टि भी खुद नहीं की। वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में जिस तरह उन्होंने धीमी बल्लेबाजी की, टीम की हार के लिए भी उन्हें जिम्मेदार माना गया। इसके बाद वे सेना के साथ एक महीने तक रहे। कई बार ऐसा भी लगता है कि अब उन्होंने खेल को गंभीरता से लेना छोड़ दिया है।

यह भी पढ़ें:बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड को बीसीसीआई ने दिया डे-नाइट टेस्ट मैच का प्रस्ताव

खेल खिलाड़ी को बनाता है न कि खिलाड़ी खेल को। इसमें कोई संदेह नहीं कि उन्होंने टीम को कितने मौकों पर कैसी परिस्थिति से निकालकर जीत दिलाई है लेकिन अब वह धोनी देखने को नहीं मिलेगा। उनका समय पूरा हो चुका है। चयनकर्ताओं ने भी उन्हें टीम में शामिल नहीं करते हुए कहा था कि हम धोनी से आगे बढ़ चुके हैं और युवा खिलाड़ियों पर ध्यान दे रहे हैं, धोनी का कोई भी फैसला उनका व्यक्तिगत है।

वीरेंदर सहवाग, सौरव गांगुली और युवराज सिंह जैसे कई खिलाड़ियों ने टीम से बाहर होने पर घरेलू क्रिकेट में खुद को साबित कर फिर से टीम में जगह बनाई। धोनी ऐसा भी नहीं कर रहे हैं। घरेलू क्रिकेट में बिना खेले उन्हें टीम में शामिल करना उन खिलाड़ियों के साथ अन्याय होगा जो अच्छा कर रहे हैं। बांग्लादेश के खिलाफ टी20 सीरीज के लिए तो भारतीय टीम घोषित हो चुकी है लेकिन आने वाले समय में बिना खेले धोनी को यदि टीम में जगह मिलती है, तो यह न्यायसंगत नहीं कहा जा सकता है।

Hindi Cricket Newsसभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

Tags:
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...