Create
Notifications

यूनिस खान संन्यास के फैसले पर पुनर्विचार के लिए तैयार

Rahul
SENIOR ANALYST
Modified 21 Sep 2018
पाकिस्तान के दिग्गज बल्लेबाज यूनिस खान ने अपने संन्यास पर पुर्नविचार करते हुए अपनी इच्छा के अनुसार वेस्टइंडीज़ के खिलाफ होने वाली टेस्ट सीरीज में वापसी का मन बनाया है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड और पाकिस्तानी खिलाड़ियों के निवेदन के बाद यूनिस खान ने टेस्ट टीम में वापसी की है। करीब दो हफ्ते पहले लाहौर में एक प्रेस वार्ता के दौरान अपने संन्यास की घोषणा करने वाले दिग्गज ख़िलाड़ी ने पिछले एक साल में टेस्ट मैचों में काफी शानदार प्रदर्शन किया है। मिस्बाह उल हक के फैसले के बाद पाकिस्तानी समर्थकों का मानना है कि अगर यह दोनों बल्लेबाज अभी रिटायर्मेंट लेते हैं तो पाकिस्तान की टीम कमज़ोर टीम हो जाएगी। जिसके चलते 39 वर्षीय यूनिस खान ने अपने फैसले पर पुर्नविचार करके वेस्टइंडीज़ के खिलाफ खेलने का मन बनाया है। यूनिस खान ने अपनी वापसी और फैसले को लेकर कहा कि मैं इस फैसले को लेकर सोच रहा हूँ। यह मेरी टीम पर निर्भर करता है कि उनको टीम में मेरी जरूरत है या नहीं, अगर वह ऐसा सोचते हैं और पाकिस्तानी फैन्स ऐसा चाहते हैं तो मैं अपना फैसला बदलकर टीम के लिए खेलने को तैयार हूं। बता दे कि ऑस्ट्रेलिया से 3-0 से हारने के बाद पाकिस्तान की टीम के कप्तान ने अपने संन्यास की घोषणा कर दी है। मिस्बाह उल हक वेस्टइंडीज़ सीरीज के बाद टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह देंगे। वेस्टइंडीज़ के खिलाफ सीरीज के बाद मिस्बाह के रिटायर्मेंट के फैसले ने सभी पाकिस्तानी समर्थकों को खामोश कर दिया। लेकिन अचानक से यूनिस युनुस की वापसी से सब को चौंकना पड़ा। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में खेली 175 रनों की पारी के बाद युनुस खान इकलौते ऐसे पाक खिलाड़ी बन गए, जिन्होंने 11 देशो में शतक जमायें हैं। इस बेहतरीन पारी के बाद इस दिग्गज बल्लेबाज ने कहा कि अगर उनकी टीम को उनकी जरूरत होगी तो वह खेल पाएंगे अन्यथा वह रिटायर्मेंट ले लेंगे। पाकिस्तानी समर्थक और खिलाड़ियों के जोर देने पर वह अपने आप को पाकिस्तान की टीम में वापिस लेकर आये। यूनिस खान की उम्र भले ही 39 वर्ष की हो लेकिन वह मैदान में आज भी किसी युवा ख़िलाड़ी से कम नहीं हैं। इसका कारण उनकी बेहतरीन फॉर्म है। वे विश्व के सबसे बेहतरीन बल्लेबाजो में से एक हैं। इंग्लैंड के खिलाफ खेली गयी उनकी शानदार पारियों  की बदौलत पाकिस्तान ने पहली बार टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष स्थान प्राप्त किया था। मिस्बाह के बाद अगर कोई ख़िलाड़ी पाकिस्तान को आगे तक ले जा सकता हैं तो वह यूनिस खान ही हो सकते हैं। उनका अनुभव पाकिस्तानी खिलाड़ियों के लिए प्रेरणा बन सकता हैं। इस बात में भी कोई संदेह नही हैं कि यूनुस केवल पाकिस्तान के लिए ही नहीं, पुरे विश्व के महान खिलाड़ियों में गिने जाते हैं। यूनिस खान पाकिस्तान के लिए 10000 रन बनाने से मात्र 23 रन दूर हैं, जिसकों वह वेस्ट इंडीज़ के खिलाफ सीरीज में आसानी के साथ पा लेंगे। यूनिस के रिटायर्मेंट को वापिस लेने फैसला पाकिस्तानी समर्थकों के लिए ख़ुशी की खबर हैं।आगामी सीरीज में यूनुस खान का प्रदर्शन इस बात को साबित भी कर सकता हैं।
Published 23 Apr 2017
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now