Create
Notifications

जब ज़हीर खान ने हेनरी ओलोंगा को लगातार 4 छक्के जड़े थे

ज़हीर खान
ज़हीर खान
EXPERT COLUMNIST

8 दिसम्बर, 2000 को भारत और ज़िम्बाब्वे के बीच पांच मैचों की एकदिवसीय सीरीज का तीसरा मैच जोधपुर में खेला गया था। पहले दो मैच जीतकर भारत सीरीज में 2-0 से आगे था और इस मैच को जीतकर 3-0 की अजेय बढ़त लेने की उम्मीद में मेजबान टीम उतरी थी। भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया और सचिन तेंदुलकर ने बरकतुल्लाह खान स्टेडियम के दर्शकों को निराश नहीं किया। मास्टर ब्लास्टर ने 153 गेंदों में 146 रनों की पारी खेली और भारत ने 50 ओवरों में 283/8 का स्कोर खड़ा किया।

लेकिन सचिन के अलावा एक और बल्लेबाज थे जिन्होंने आखिरी ओवर में ज़िम्बाब्वे के प्रमुख गेंदबाज हेनरी ओलोंगा की बखिया उधेड़ दी थी। ये बल्लेबाज थे ज़हीर खान, जिन्हें भारत के महान गेंदबाजों में शुमार किया जाता है। ज़हीर खान ने इस पारी में 11 गेंदों में 32 रन बनाये और 50वें ओवर की आखिरी चार गेंद पर लगातार चार छक्के लगाये। ओलोंगा ने अपने 4 ओवर में 52 रन दिए और ये आंकड़े काफी खराब थे।

यह भी पढ़ें - महेंद्र सिंह धोनी ने छक्का लगाने के बाद नहीं देखा था कि गेंद कहाँ गयी

हालांकि ज़िम्बाब्वे ने 284 रनों के लक्ष्य को एंडी और ग्रांट फ्लावर के अर्धशतकों की बदौलत एक गेंद रहते 9 विकेट खोकर हासिल कर लिया। आखिरी ओवर में भारत ने दो विकेट लेकर मैच में वापसी करने की कोशिश की लेकिन म्लुलेकी एन्काला के 36 रनों की बदौलत ज़िमबाब्वे ने जीत हासिल कर ली। वेंकटेश प्रसाद ने तीन विकेट लिए लेकिन उनकी गेंदबाजी बेकार गई। बल्ले से कमाल दिखाने वाले ज़हीर खान सिर्फ एक विकेट ही ले सके। ग्रांट फ्लावर को तीन विकेट और 70 रन बनाने के लिए मैन ऑफ़ द मैच चुना गया था। वैसे भारत ने अगले दोनों मैच जीतकर एकदिवसीय सीरीज को 4-1 से जीत लिया था।

लेकिन इस मैच को आज भी ज़हीर खान के चार छक्कों के कारण ही याद किया जाता है और ओलोंगा जैसे धाकड़ गेंदबाज इस तरह की धुनाई को शायद ज़िन्दगी भर न भुला पाएं। ओलंगा के अलावा जोधपुर के दर्शक भी इस मैच को ज़हीर के कारण ही याद करते हैं।

ज़हीर खान के चार गेंदों में चार छक्के

Video Courtesy - 10anujrathi10

Edited by Staff Editor
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now