Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

डिएगो मैराडोना की निधन से पहले क्‍या थी नेट वर्थ!

डिएगो मैराडोना
डिएगो मैराडोना
Vivek Goel
FEATURED WRITER
Modified 27 Nov 2020
न्यूज़

आप डिएगो मैराडोना के बारे में कितना जानते हो? ब्राजील के महान पेले से पूछिए तो वो आपको बताएंगे कि एल पीब डे ओरो (द गोल्‍डन किड) डिएगो मैराडोना ने दुनियाभर में अपना शानदार प्रभाव बनाया हुआ था। लियोनेल मेसी से पूछें तो पता चलेगा कि डिएगो मैराडोना के साथ तुलना होने पर सबसे पहले वो ही जाकर बंद करने को कहेंगे। गोल मशीन क्रिस्टियानो रोनाल्‍डो से पूछिए तो बताएंगे कि डिएगो मैराडोना ने मौत से पहले क्‍या विरासत छोड़ी है।

प्रिंस ऑफ कोलकाता के नाम से मशहूर सौरव गांगुली भी कह चुके हैं कि वह अपने हीरो को खो चुके हैं। भारत में क्रिकेट को धर्म की तरह माना जाता है, लेकिन देश के कई कोनों में डिएगो मैराडोना को भगवान का दर्जा प्राप्‍त है और कुछ जगहों पर उनकी पूजा की जाती है। हैंड आफ गॉड की तरह डिएगो मैराडोना की दो बार कोलकाता की यात्रा यादगार है। यह कहना सही होगा कि 300 से ज्‍यादा गोल (कुछ गैरकानूनी) और प्रतिष्ठित खिताब जीतने के बाद डिएगो मैराडोना ने कई तरीकों से कई लोगों की जिंदगी को छुआ है।

जुनून, दर्द और कोकीन...

अर्जेंटीना को हर हाल में जीत दिलाने की मानसिकता रखने वाले डिएगो मैराडोना सभी चीजों के लिए जुनूनी थे। 1989 यूएफा कप सेमीफाइनल में ऑस्‍ट्रिया के पोप बैंड ओपस के लोकप्रिय गीत लाइव इज लाइफ पर थिरकने के बाद डिएगो मैराडोना के वॉर्म-अप का अंदाज फैंस को अब भी बहुत पसंद आता है। मैदान के अंदर और बाहर डिएगो मैराडोना की छवि अलग तरह की थी। उन्‍होंने एफसी बार्सिलोना और बोका जूनियर्स का भी प्रतिनिधित्‍व किया।

हालांकि, नेपोली के साथ डिएगो मैराडोना ने सात साल लंबा सफर तय किया। 1986 में अर्जेंटीना को विश्‍व कप खिताब दिलाने के बाद डिएगो मैराडोना ने 1987 में नेपोली को पहला लीग खिताब दिलाया था। अपने करियर के सर्वश्रेष्‍ठ दिनों का आनंद उठा रहे और नेपोली के फैंस के दिलों पर राज कर रहे डिएगो मैराडोना ने रिपोर्ट के मुताबिक माफिया परिवार को अलग किया था।

फिर डिएगो मैराडोना को कोकीन और देर रात पार्टी की लत लग गई। नेपोली ने 1989-90 में अपना दूसरा सीरी ए खिताब जीता। डिएगो मैराडोना को जानबूझकर इटली छोड़ना पड़ा। डिएगो मैराडोना ने कुछ ज्‍यादा ही मात्रा में ड्रग्‍स लिया था, जिसके कारण फुटबॉल की दुनिया में उनका डाउनफॉल शुरू हुआ था।

डिएगो मैराडोना की नेट वर्थ

आईबीटी टाइम्‍स की रिपोर्ट के मुताबिक डिएगो मैराडोना 3 मिलियन यूएस डॉलर अपनी सैलेरी के रूप में निकाले में कामयाब रहते थे जबकि करीब 8 से 10 मिलियन यूएस डॉलर वह एंडोर्समेंट से लेते थे। डिएगो मैराडोना को नेपोली के साथ मैच छोड़ने व प्रैक्टिस मैच चूकने के लिए 70,000 यूएस डॉलर का जुर्माना भरना पड़ा था। रिपोर्ट में बताया गया कि डिएगो मैराडोना को क्‍लब की इज्‍जत खराब करने के लिए कोर्ट के चक्‍कर लगाने पड़े थे।

डिएगो मैराडोना ने आकर्षक लाइफस्‍टाइल जीत। एक्‍सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक डिएगो मैराडोना ने बिना टैक्‍स चुकाए 44 मिलियन यूएस डॉलर अपने पास रखे। रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि मैराडोना के निधन के बाद भी ज्‍यादातर पैसा नहीं चुकाया गया। मैराडोना की नेट वर्थ से आप आराम से लक्‍जरी कार खरीद सकते हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक मैराडोना की नेट वर्थ करीब 100,000 यूएस डॉलर (7,394,990.00) है।

हालांकि, सेलेब्रिटी नेट वर्थ के मुताबिक मैराडोना की नेट वर्थ निधन के समय 500000 यूएस डॉलर थी, जो काफी कम है। डिएगो मैराडोना ने 1997 में फुटबॉल से संन्‍यास लिया था क्‍योंकि महान फुटबॉलर लगातार ड्रग और स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍यायों से संघर्ष कर रहे थे। पूर्व अर्जेंटीनी कप्‍तान ने अपने 60वें जन्‍मदिन से 4 दिन पहले ब्रेन सर्जरी कराई थी। डिएगो मैराडोना का 60 साल की उम्र में हार्ट अटैक से निधन हुआ। डिएगो मैराडोना के निधन से खेल जगत में शोक की लहर फैल गई है।

Published 27 Nov 2020, 08:38 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now