Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

21 साल बाद होगा भारत और चीन के बीच फुटबॅाल मुकाबला  

CONTRIBUTOR
न्यूज़
175   //    Timeless

Enter caption

बीते कुछ वर्षों में देखे तो भारतीय फुटबॅाल में जिस तरह का बदलाव देखने को मिला, वो काबिल-ए-तारीफ है। बता दें कि फीफा रैंकिंग में भारत 97वें स्थान पर काबिज है। शनिवार को होने वाले मैच में भारत और चीन का सामना 21 साल बाद होगा ।  

भारत अभी तक चीन के खिलाफ 17 बार खेल चुका है। वहीं चीन की टीम भारतीय जमीन पर नेहरू कप में 7 बार खेल चुकी है । भारत को चीन के खिलाफ इनमें से 12 बार हार का स्वाद चखना पड़ा है और इस टीम ने 5 मुकाबलों को बराबर पर समाप्त किया है । कोच्चि में हुए नेहरू कप में आखिरी बार इन दोनों देशों को 1997 में खेलते हुए देखा गया था, जहां पर भारत को 1-2 से शिकस्त झेलनी पड़ी थी ।   

एशियन कप औऱ विश्व कप क्वालीफाइर्स को छोड़ दिया जाए तो चीन हमेशा अपनी बी टीम को ही मैदान पर उतारती है। साथ ही इस मैच को एफसी कप के तैयारी के रूप में भी देखा जा रहा है, जिसका आयोजन अगले साल जनवरी में होने जा रहा है।   

भारतीय फुटबॅाल टीम के कोच स्टीफन कांस्टेंट ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि हमारा मुकाबला काफी कड़ी टीम से है। हम इस मैच को जीतने के इरादे से उतरेंगे, लेकिन अगर हमें यहा हार मिलती है तो फिर भी हम सकरात्मक सोच के साथ वतन लौटेंगे।  

इस मुकाबले के लिए संदेश झींगन को टीम की कमान सौंपी गई है। टीम की तैयारियों पर भारतीय टीम के गोल मशीन सुनील छेत्री का कहना है कि हम इस मुकाबले में छोटे-छोटे अंतराल पर गोल दागने की कोशिश करेंगे। 

भारत की संभावित एकादश: 

गोलकीपर: गुरप्रीत संधू

डिफेंडर: प्रीतम कोटाल, संदेश झींगन, एनस इडोथोडिका, शुभाशीष बोस

मिडफील्डर: उदांता सिंह, रोवलिन बोर्गस, अनीरुद्ध थापा, हालीचरण नरज़री

फॉरवर्ड: सुनील छेत्री एवं जेजे लालपेखलुआ  

Advertisement
Advertisement
Fetching more content...