Create

शारीरिक तथा मानसिक स्वास्थ्य के लिए अर्जुन की छाल की चाय का सेवन, जानिए 5 फायदे - Benefits Of Arjun's Bark Tea

शारीरिक तथा मानसिक स्वास्थ्य के लिए अर्जुन की छाल की चाय के 5 फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
शारीरिक तथा मानसिक स्वास्थ्य के लिए अर्जुन की छाल की चाय के 5 फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
reaction-emoji reaction-emoji
Vineeta Kumar

अर्जुन ट्री (Arjun Tree), जिसे टर्मिनालिया अर्जुन (Terminalia Arjuna) के नाम से भी जाना जाता है, आयुर्वेद में स्वास्थ्य और त्वचा की देखभाल के कई लाभों के लिए जाना जाता है। इस पेड़ की छाल चिकित्सीय प्रयोजनों के लिए उपयोग किया जाने वाला मुख्य औषधीय घटक है। इसके कई त्वचा लाभों के साथ, यह अपने कार्डियोप्रोटेक्टिव (cardioprotective) कार्यों के लिए भी जाना जाता है।

अर्जुन के औषधीय गुणों में एंटीऑक्सीडेंट (antioxidant), हाइपोटेंशन (hypotensive), एंटी-एथेरोजेनिक (anti-atherogenic), एंटी-इंफ्लेमेटरी (anti-inflammatory), एंटी-कार्सिनोजेनिक (anti-carcinogenic) और एंटी-म्यूटाजेनिक (anti-mutagenic) से लेकर गैस्ट्रो-उत्पादक प्रभाव शामिल हैं। अर्जुन हमारे हृदय के स्वास्थ्य के लिए कुछ महत्वपूर्ण मिनरल से भी समृद्ध है। आप अर्जुन की छाल का उपयोग चाय के रूप में कर सकते हैं। इस लेख में अर्जुन की छाल से बनी चाय (arjuna bark tea) के फायदे बताये गए हैं।

शारीरिक तथा मानसिक स्वास्थ्य के लिए अर्जुन की छाल की चाय का सेवन, जानिए 5 फायदे - 5 Benefits Of Arjun's Bark Tea In Hindi

1. स्वस्थ हृदय के लिए (for a healthy heart)

अर्जुन की छाल की चाय एक अद्भुत हृदय टॉनिक और कार्डियोप्रोटेक्टिव जड़ी बूटी मानी जाती है। यह हृदय की मांसपेशियों को मजबूत करने, कोरोनरी धमनी रक्त प्रवाह के संचालन में सुधार करने और हृदय की मांसपेशियों को इस्केमिक क्षति से बचाने में शक्तिशाली है। आप काढ़े की जगह इसकी चाय का सेवन कर सकते हैं।

2. ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करे (control blood pressure)

अर्जुन की छाल ब्लड प्रेशर को कम करने की क्षमता रखती है। यह रक्त वाहिकाओं को फैलाने और आराम करने में मदद करती है जिससे ब्लड प्रेशर को सामान्य सीमा पर बनाए रखने में मदद मिलती है। हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में भी अर्जुन की छाल की चाय का सेवन फायदेमंद है।

3. सूजन से लड़ने में मदद करे (help fight inflammation)

अर्जुन में मौजूद मजबूत एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण और एंटीऑक्सीडेंट शरीर को विषाक्त पदार्थों (toxins) के हानिकारक प्रभावों से बचाते हैं। अर्जुन एक प्रभावी जड़ी बूटी है जो उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करने में फायदेमंद है। अर्जुन की छाल की चाय पीने से शरीर में होने वाली सूजन का इलाज किया जा सकता है। यह पुरानी सूजन से लड़ सकती है और समग्र स्वास्थ्य और कल्याण को बढ़ावा दे सकती है।

4. ब्लड शुगर को नियंत्रित करे (control blood sugar)

अर्जुन के पेड़ में मौजूद पौधों के यौगिक टैनिन, सैपोनिन और फ्लेवोनोइड्स ग्लूकोज मेटाबोलिज्म में मदद करते हैं और ब्लड शुगर के स्तर में अचानक वृद्धि को नियंत्रित करते हैं।

5. घाव भरने में मदद करे (help heal wounds)

अर्जुन एक अद्भुत घाव भरने वाला यौगिक है, टैनिन की उपस्थिति घावों के आकार को कम करने में मदद करती है। यह कोलेजन उत्पादन के टर्नओवर को तेज करके घावों की तेजी से मरम्मत करता है। परंपरागत रूप से छाल को एक पेस्ट के रूप में इस्तेमाल करके या चाय का सेवन करके इसके फायदे ले सकते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
reaction-emoji reaction-emoji

Comments

Fetching more content...