Create

एसिडिटी से राहत पाने के लिए अपनाएं यह 10 घरेलू उपाय - Acidity Se Rahat Pane Ke Liye Apnaye Yeh 10 Gharelu Upay

एसिडिटी से राहत पाने के लिए अपनाएं यह 10 घरेलू उपाय (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
एसिडिटी से राहत पाने के लिए अपनाएं यह 10 घरेलू उपाय (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
reaction-emoji
Vineeta Kumar

एसिडिटी (Acidity) जिसे आमतौर पर एसिड रिफ्लक्स के रूप में भी जाना जाता है, एक ऐसी स्थिति है जिसमें पित्त या पेट का एसिड हमारे अन्नप्रणाली (oesophagus) या भोजन नली में वापस आ जाता है और जलन पैदा करता है। इससे हमारे सीने में जलन होती है जो एसिडिटी का सबसे आम लक्षण है। ऐसे में आपको चिकित्सा सहायता की ज़रुरत होती है, लेकिन इसका उपचार घर पर रहकर भी किया जा सकता है। इस लेख में हम एसिडिटी के 10 घरेलू उपाय बताएंगे।

एसिडिटी से राहत पाने के लिए अपनाएं यह 10 घरेलू उपाय - Acidity Se Rahat Pane Ke Liye Apnaye Yeh 10 Gharelu Upay In Hindi

1. सेब साइडर सिरका (Apple Cider Vinegar)

एप्पल साइडर विनेगर में प्रोटीन, एंजाइम और पेक्टिन होता है जो आपके आहार में इसे अत्यधिक पौष्टिक बनाता है। कुछ लोग दावा करते हैं कि एसिड रिफ्लक्स पेट में एसिड की कम मात्रा के कारण हो सकता है।

2. लौंग (Cloves)

एसिडिटी के लक्षण जैसे पेट फूलना, अपच, जी-मिचलाना, गैस्ट्रिक इर्रिटेबिलिटी आदि से छुटकारा पाने के लिए लौंग का एक टुकड़ा चूसने से लाभ मिलते हैं।

3. गुनगुना पानी (Lukewarm Water)

गर्म पानी पेट सम्बंधित समस्याओं के लिए अच्छा माना जाता है। इसके लिए रात को सोने से पहले खाली पेट एक गिलास गुनगुना पानी पीने से एसिडिटी से राहत मिल सकती है।

4. सौंफ (Fennel seeds)

सौंफ का सेवन एसिडिटी में लाभदायक माना जाता है। एक चम्मच सौंफ का चूर्ण एक गिलास गर्म पानी के साथ लेने से एसिडिटी तथा इसके अन्य लक्षणों जैसे सीने में जलन, सूजन और पाचन में सुधार होता है।

5. जीरा (Cumin seeds)

जीरा में एंटी-एसिडिटी गुण होते हैं। जीरा को सीधे चबाकर या फिर एक चम्मच जीरे को गिलास भर पानी में उबालकर पीने से लाभ मिलते हैं।। काला जीरा गैस्ट्रो-प्रोटेक्टिव होता है। यह अम्लता यानी एसिडिटी और इसके लक्षणों जैसे हार्टबर्न, पेट दर्द, मतली, सूजन, कब्ज आदि को कम करने और रोकने में प्रभावी है।

6. पुदीने की पत्तियां (Mint Leaves)

पुदीना ना केवल पाचन में मदद करता है बल्कि आपके पूरे सिस्टम को ठंडक भी पहुंचाता है। एसिडिटी के खिलाफ अस्थायी राहत के साथ-साथ दीर्घकालिक समर्थन के लिए, पुदीने की पत्तियां एक सरल लेकिन सुरुचिपूर्ण उपाय हैं।

7. छाछ (Buttermilk)

छाछ में मौजूद लैक्टिक एसिड पेट में अम्लता को सामान्य करता है और सुखदायक प्रभाव देता है। काली मिर्च और धनिया के साथ छाछ का एक गिलास हमारे एसिडिटी के लक्षणों को तुरंत कम करने में मदद करता है।

8. पपीता (Papaya)

पपीता गैस्ट्रिक एसिड स्राव को कम करता है और एसिडिटी से राहत देता है। यह प्रभाव पपीते में मौजूद एंजाइम पपैन (papain) के कारण होता है।

9. अजवाइन (Carom seeds)

अजवाइन के सेवन से एसिडिटी और पेट फूलने से राहत मिलती है। यह पाचन के लिए बहुत अच्छा है और एक प्रभावी एंटी-एसिड एजेंट है।

10. ठंडे दूध का सेवन (Drink cold milk)

एसिडिटी में ठंडे दूध का सेवन फायदेमंद होता है। एक गिलास ठंडा दूध एसिडिटी से तुरंत राहत दिला सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...