Create
Notifications

अजमोदादि चूर्ण के फायदे- Ajmodadi Churna ke Fayde

Enter caption अजमोदादि चूर्ण के फायदे(फोटो: youtube)
Enter caption अजमोदादि चूर्ण के फायदे(फोटो: youtube)
Ritu Raj
visit

आयुर्वेद (Ayurved) में अजमोदादि चूर्ण (ajmodadi churna benefits) का इस्तेमाल कई रोगों के इलाज में कारगर बताया गया है। खांसी, बवासीर, पथरी और पाचन तंत्र से जुड़ी बीमारियों को ठीक करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है। इसके साथ ही जोड़ों के दर्द जैसे गठिया, हड्डियों की कमजोरी को भी ठीक करने में ये लाभकारी है।

अजमोदादि चूर्ण के फायदे Benefits of Ajmodadi Churna in Hindi

जोड़ों का दर्द (Joints Pain)

जोड़ों का दर्द आजकल एक सामान्य समस्या बनते जा रहा है। इस बीमारी से हजारों लोग पीड़ित हैं। कई बार जोड़ों का दर्द इतना बढ़ जाता है कि मरीज के दिनचर्या पर इसका असर पड़ने लगता है। ऐसे में अजमोदादि चूर्ण फायदेमंद हो सकता है। इसके साथ ही किसी अंग में सूजन होने पर भी इसके सेवन से फायदा मिल सकता है।

पाचन तंत्र (Strong Digestive System)

आजकल लोग गलत लाइफस्टाइल और फास्ट-फूड (Fast Food) का अत्यधिक सेवन करने लगे हैं, जिसका असर उनके पाचन तंत्र पर पड़ा है। ज्यादा तला-भुना और फास्ट फूड खाने से सबसे ज्यादा प्रभावित हमारा पाचन तंत्र होता है, जिसकी वहह से हम कई बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। ऐसे में अजमोदादि चूर्ण का इस्तेमाल कर पाचन तंत्र को मजबूत करने के साथ पेट से जुड़ी अन्य कई समस्याओं में राहत मिल सकता है।

कफ दोष (Benefits in cough)

खांसी, जुकाम, बुखार और एलर्जी जैसी समस्याएं कफ दोष की वजह होती हैं। इसे ठीक करने के लिए हम डॉक्टर का सहारा ले सकते हैं। लेकिन अजमोदादि चूर्ण का सेवन कर कफ दोष को ठीक किया जा सकता है। इसमें कफ दोष को शमन करने का गुण पाया जाता है।

गले में संक्रमण (Benefits in Throat infection)

मौसम बदलने से, ज्यादा प्रदूषण या फिर किसी अन्य चीजों की वजह से गले में संक्रमण की समस्या हो सकती है। ऐसे में गला बैठना, गले में दर्द की परेशानी हो सकती है और कई बार काफी लंबे समय तक गले का संक्रमण बना रहता है। ऐसे में आजमोदादि चूर्ण का सेवन करना काफी लाभकारी होता है। इसके सेवन से इससे आसानी से राहत पाया जा सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Ritu Raj
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now