Create

कच्ची हल्दी का अचार खाने के फायदे और नुकसान- Kacchi haldi ka achar khane ke fayde aur nuksan

कच्ची हल्दी का अचार खाने के फायदे और नुकसान
कच्ची हल्दी का अचार खाने के फायदे और नुकसान

Benefits and Side effects of Raw turmeric pickle: बिना हल्दी के खाने के बारे में सोचा भी नहीं जा सकता। चाहे दाल बनाना हो या फिर कोई भी सब्जी, लगभग हर भोजन में बिना हल्दी के ना तो रंग आता है और ना ही स्वाद। हल्दी हमारी सेहत के लिए काफी लाभकारी होती है। आयुर्वेद में हल्दी को काफी महत्व दिया गया है और कई गंभीर समस्याओं में इसका इस्तेमाल किया जाता है। हल्दी का अचार भी हमारी सेहत के लिए फायदेमंद होता है। आज हम बात करेंगे कच्ची हल्दी के अचार के बारे में जो शरीर को हेल्दी बनाने के साथ ही कई बीमारियों को दूर भगाती है।

ऐसे बनाएं कच्ची हल्दी का अचार (Know How to make raw turmeric pickle)

कच्ची हल्दी बिल्कुल अदरक के जैसी होती है। इसका अचार बनाने के लिए 250 ग्राम कच्ची हल्दी के टुकड़े को छील लें और इसे कांच के कंटेर में डाल दें। उसमें स्वादानुसार नमक मिला दे और साथ ही 3 नींबू निचोड़ दें। उसके बाद कंटेनर को बंद कर आचार को 5-6 दिनों तक फ्रिज में रख दें। इन दिनों में हर रोज एक बार कंटेनर को अच्छे से जरूर हिलाए। इसका स्वाद और बढ़ाने के लिए अदरक के टुकड़ों या फिर आम के टुकड़ों को कंटेनर में डाल सकते हैं।

हल्दी के अचार खाने के फायदे (Benefits of eating turmeric pickle)

हल्दी का अचार पाचन में मदद कर सकता है। ये पाचन से जुड़ी समस्याएं जैसे गैस और ब्लोटिंग से राहत देने में मदद करता है। इसके साथ ही इम्यूनिटी को बूस्ट करने में भी मदद मिलती है। हल्दी का अचार इम्यूनिटी को सुधारने में मदद करता है क्योंकि, इसमें सूजन रोधी और रोगाणु गुण होते हैं। इसके साथ ही ये सांस की समस्याओं से राहत दिलाने में भी मदद करता है। साइनस और गले में बलगम को सुखाने में कच्ची हल्दी का अचार काफी मदद करता है।

कच्ची हल्दी का अचार खाने के नुकसान (Side Effects of eating raw turmeric pickle)

कच्ची हल्दी का अचार खाने के नुकसान के बारे में बात करें तो, ये पूरी तरह से प्राकृतिक है और इसका कोई साइड-इफेक्ट नहीं हैं। हालांकि, इस बात का ध्यान देना जरूरी है कि इसका ज्यादा सेवन न करें। ज्यादा सेवन करने से पेट खराब या अन्य समस्या हो सकती है। वहीं, अगर आपका कोई इलाज चल रहा है तो इसका सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Ritu Raj
Be the first one to comment