Create
Notifications

शाम के समय जिम जाकर वर्कआउट करने के फायदे और नुकसान

विजय शर्मा
visit

जिम जाना और मसल्स बनाना, आजकल एक ट्रेंड सा बन गया है। कुछ लोग सिर्फ सेल्फी लेने के लिए जिम जाते हैं तो कुछ वाकई जिम में जाकर खूब मेहनत करते हैं। लगातार जिम जाने के लिए खुद को प्रेरित करना भी एक बड़ी चुनौती होती है। कुछ लोग सुबह के समय जिम जाना पसंद करते हैं, जबकि कुछ शाम को। हम सुबह जिम करने के फायदे-नुकसान आपको पहले ही बता चुके हैं। आज हम शाम के वर्कआउट के बारे में बात करेंगे।

फायदे

अच्छी नींद मिलना

अगर आप सुबह की बजाय शाम को वर्कआउट करते हैं, तो इसका बड़ा फायदा ये है कि आपको सुबह जल्दी उठकर जिम जाने की चिंता नहीं रहती। माना जाता है कि सुबह 4 बजे के बाद की नींद सबसे अच्छी होती है। ऐसे में शाम को वर्कआउट की वजह से शरीर थका हुआ रहता है और फिर रात में नींद अच्छी आती है। शाम का वर्कआउट सोने के लिए पर्याप्त समय मुहैया करवाता है, जिससे रिकवरी जल्दी होती है।

पॉजीटिविटी बढ़ाने में कारगर

वर्कआउट करने की वजह से हमारे शरीर में कुछ ऐसे पदार्थ बनने लगते हैं, जिससे हमारा मूड अच्छा हो जाता है। ऐसे में अगर किसी का ऑफिस, कॉलेज में दिन खराब और तनाव भरा रहा हो तो शाम का वर्कआउट काफी कारगर साबित हो सकता है। शाम के समय शरीर में सुस्ती में नहीं करती और जिम में एक्सरसाइज़ के लिए बॉडी पहले से तैयार रहती है।

लंबे वर्कआउट के लिए समय

सुबह के वर्कआउट के लिए लोगों के पास लिमिटेड समय होता है, क्योंकि किसी को ऑफिस, किसी को कॉलेज या दूसरे कामों के लिए जाना पड़ता है। वहीं शाम के समय आप वर्कआउट को लंबा भी खींच ज्यादा एक्सरसाइज़ कर सकते हैं। जिम में बिताया गया ज्यादा समय बॉडी पर अच्छा प्रभाव ही डालेगा।

नुकसान

जिम में जबरदस्त भीड़

आप किसी भी जगह के जिम में चले जाएं, आपको सुबह के मुकाबले शाम के समय भीड़ ज्यादा मिलेगी। ज्यादातर लोग शाम के समय वर्कआउट करना पसंद करते हैं, ऐसे में भीड़ होना लाज़मी है। ज्यादा भीड़ वर्कआउट पर असर डालती है, क्योंकि भीड़ की वजह से मशीन या डम्बल वगैरह लगातार मिलने में परेशानी आती है और वर्कआउट का समय खराब हो जाता है।

दूसरे काम की वजह से जिम मिस होने के चांस

इस बात से सभी इत्तेफाक रखेंगे कि शाम के समय किसी भी तरह के काम से आपका जिम मिस हो सकता है। घर का काम, दोस्तों के साथ जाना, पार्टी, कॉलेज या ऑफिस से लेट आना, इन सब हालातों में आपका जिम मिस होकर ही रहेगा। ऐसे में सुबह के समय वर्कआउट को चुनना ज्यादा अच्छा फैसला माना जा सकता। हां, अगर आप नींद पर कंट्रोल करें और उठने में ज्यादा परेशानी नहीं होती तो सुबह से अच्छा कुछ नहीं।

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now