Create

इंजेक्शन की गांठ का घरेलू उपचार: Injection Ki Ganth Ka Gharelu Upchaar 

फोटो: Patrika
फोटो: Patrika

इंजेक्शन के कारण गाँठ (Injection Knot) होने की समस्या काफी आम नहीं है। अगर आप इंजेक्शन के बाद खुद के शरीर में या फिर इंजेक्शन वाली जगह पर गाँठ का अनुभव करते हैं तो आपको इसके लिए कुछ घरेलू उपाय करने चाहिए। इससे आपको पल भर में काफी बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे।

हम सबके किचन में सिर्फ लज्जतों से भरी चीजें ही नहीं हैं क्योंकि आपको सेहतमंद बनाने और हमेशा फिट रखने वाली चीजें भी मौजूद हैं। ऐसे में आप किसका चुनाव करते हैं ये आप पर निर्भर करता है। आइए आपको इंजेक्शन के कारण गाँठ पड़ने वाली स्थिति से दो चार होने पर आजमाने वाले उस घरेलू नुस्खे के बारे में बताते हैं जो बेहद कारगर है।

इंजेक्शन की गांठ का घरेलू उपचार: Injection Ki Ganth Ka Gharelu Upchaar

हल्दी दूध का सेवन करें: Drink Turmeric Milk

हल्दी दूध का सेवन करें। हल्दी को हर प्रकार से शरीर के लिए लाभकारी माना जाता है और अगर आप हल्दी (Turmeric) और दूध (Milk) को मिलाकर पीते हैं तो उससे हल्दी में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट (Anti Oxidant), एंटी फंगल (Anti Fungal), एंटी बैक्टीरियल (Anti Bacterial)और एंटी इंफ्लेमेटरी (Anti Inflammatory) गुण आपकी सेहत को लाभ देते हैं। दूध में मौजूद मिनरल्स (Minerals) और कैल्शियम (Calcium) भी आपको लाभ देते हैं।

नीचे दी गई घरेलू चीजों का पेस्ट बनाएं: Make a paste of the mentioned items

सरसों, तिल का तेल या एक चम्मच गाय का घी लें और उसमें एलोवेरा (Aloe Vera), फिटकरी का पाउडर (Fitkari Powder), हल्दी (Turmeric), शीशम के पत्ते (Sheesham leaves), गुण (Jaggery) मिलाकर गर्म कर लें। इसको एक कपड़े में बांधकर गाँठ वाली जगह पर बाँध दें। इससे आपको काफी लाभ होगा।

ताड़ासन करें: Do Tadasan Yoga

ताड़ासन एक बेहद आसान योग है। इसके लिए आप खड़े हो जाएं या अमूमन हम खड़े ही रहते हैं तो अब सावधान वाली अवस्था में आ जाएं और अब अपने हाथों को ऊपर उठाएं। जब हाथ कंधे से ऊपर जाएंगे तो आपकी हथेलियाँ ऊपर हो जाएंगी। सांस को अंदर खींचे और हाथों ऊपर खींचें जिससे पूरा भार पंजों पर आ जाए। 30 सेकेंड के बाद आप हाथों को नार्मल अवस्था में ले आएं और इस मुद्रा को 5 बार करें।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Amit Shukla
Be the first one to comment