Create

ब्रेन हेमरेज के लक्षण और 5 बचाव : Brain Hemorrhage Ke Lakshan Aur 5 Bachav 

ब्रेन हेमरेज के लक्षण और बचाव (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
ब्रेन हेमरेज के लक्षण और बचाव (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

ब्रेन हेमरेज (Brain Hemorrhage) एक प्रकार का स्ट्रोक होता है। यह मस्तिष्क में एक आर्टरी के फटने और आसपास के टिशुस में ब्लीडिंग के कारण होता है। यह ब्लीडिंग ब्रेन सेल्स को नष्ट करती है। ब्रेन हेमरेज को सेरेब्रल हेमोरेज (cerebral hemorrhages), इंट्राक्रैनील हेमोरेज (intracranial hemorrhages) या इंट्रासेरेब्रल हेमोरेज (intracerebral hemorrhages) भी कहा जाता है। कुछ ब्रेन हेमरेज अक्षम या जीवन के लिए खतरा हो सकते हैं। यदि आपको इसका खतरा है तो ऐसे में चिकित्सा सहायता प्राप्त करना महत्वपूर्ण हो जाता है। यहां आपको ब्रेन हेमरेज के बारे में जानकारी दी गयी है। इस लेख के माध्यम से आप ब्रेन हेमरेज के लक्षण और उपचार (Symptoms and treatment of brain hemorrhage) के विषय में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

ब्रेन हेमरेज के लक्षण और 5 बचाव

ब्रेन हेमरेज के लक्षण - Symptoms Of Brain Hemorrhage In Hindi

ब्रेन हेमरेज के लक्षण अलग-अलग हो सकते हैं। वे ब्लीडिंग के स्थान, गंभीरता और प्रभावित टिशुस की मात्रा पर निर्भर करते हैं। लक्षण अचानक विकसित हो सकते हैं।

अचानक तेज सिरदर्द होना, हाथ या पैर में कमजोरी होना, उलटी-मितली होना, सुस्ती होना, दृष्टि में परिवर्तन होना, झुनझुनी या सुन्नता महसूस होना, बोलने या समझने में कठिनाई पड़ना, निगलने में कठिनाई महसूस होना, लिखने या पढ़ने में कठिनाई होना, हाथ कांपना, स्वाद महसूस ना होना, बेहोश हो जाना आदि ब्रेन हेमरेज के कुछ लक्षण हैं।

ऊपर दिए गए लक्षणों में से यदि आपको कोई संकेत मिले तो डॉक्टर से संपर्क करें।

ब्रेन हेमरेज के बचाव - Preventions For Brain Hemorrhage In Hindi

ब्रेन हेमरेज से बचाव के लिए स्ट्रोक के लक्षणों का ख्याल खुद से रखें। लाइफस्टाइल में बदलाव के साथ स्ट्रोक से बचा जा सकता है।

1. स्वस्थ व संतुलित आहार का सेवन करें।

2. बढ़े हुए वजन को नियंत्रित करे,

3. व्यायाम करें,

4. धूम्रपान और शराब का सेवन ना करें,

5. ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल को प्रभावित करने वाले खाद्य पदार्थों को त्याग दें। ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखें। स्वस्थ भोजन और संतुलित आहार में फल, सब्जियां, व्होल ग्रीन्स, ड्राई फ्रूट्स आदि भोजन में शामिल करें। लाल मीट ना खाएं और कोलेस्ट्रॉल व सैचुरेटेड फैट युक्त खाद्य पदार्थो का सेवन बंद कर दें।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
Be the first one to comment