Create

विटामिन D की कमी भी हो सकती है यूरिक एसिड बढ़ने का कारण - Vitamin D Ki Kami Bhi Ho Sakti Hai Uric Acid Badne Ka Karan

विटामिन D की कमी भी हो सकती है यूरिक एसिड बढ़ने का कारण (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
विटामिन D की कमी भी हो सकती है यूरिक एसिड बढ़ने का कारण (फोटो - sportskeedaहिन्दी)

शरीर में ज्यादा यूरिक एसिड (Uric Acid) जमने लगता है, तो कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं होने लगती है। इसलिए, ऐसी स्थिति में यूरिक एसिड डाइट का ध्यान रखना जरूरी है। ज्यादा प्यूरिन युक्त खाद्य पदार्थ के सेवन से शरीर में अधिक मात्रा में यूरिक एसिड जमने लगता है। यूरिक एसिड ब्लड में पाया जाने वाला एक रसायन है। यूरिक ऐसिड की ज्यादा मात्रा से हार्ट डिजीज (Heart disease), हायपरटेंशन (Hypertension), किडनी स्टोन (Kidney stone) और गठिया (Arthritis) जैसी बीमारियां भी हो सकती हैं। शरीर में विटामिन-D की कमी के कारण भी यूरिक एसिड की समस्या उत्पन्न हो सकती है (Vitamin D Deficiency Can Also Be The Reason For Increasing Uric Acid)। आइए जानते हैं के क्या है यूरिक एसिड बढ़ने के अन्य कारण और कैसे शरीर में विटामिन-D की कमी को पूरा करें-

विटामिन D की कमी भी हो सकती है यूरिक एसिड बढ़ने का कारण - Vitamin D Ki Kami Bhi Ho Sakti Hai Uric Acid Badne Ka Karan In Hindi

यूरिक एसिड कैसे बढ़ता है? (High uric acid levels)

प्यूरिन केमिकल शरीर में भी बनते हैं और कुछ खाद्य पदार्थों में भी पाए जाते हैं। मीट, बीन्स, बियर आदि में प्यूरीन की अधिक मात्रा होती है। आमतौर पर आपका शरीर यूरिक एसिड को यूरिन और किडनी के जरिये फिल्टर कर देता है, लेकिन अगर खाने में प्यूरिन की अधिक मात्रा होती है बॉडी इसे आसानी से फिल्टर नहीं कर पाती। ऐसे में खून में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने लगती है।यूरिक एसिड के बढ़ने को ह्यपरुरिसमिअ (Hyperuricemia) भी कहा जाता है। इससे गाउट (Gout) नाम की बीमारी लग सकती है जिससे जोड़ों में दर्द उठता है। यह खून और यूरिन को काफी एसिडिक भी बना सकता है।

यूरिक एसिड बढ़ने के लक्षण (Symptoms of increased uric acid)

- जोड़ों में दर्द होना

- उठने-बैठने में परेशानी होना

- उंगलियों में सूजन आ जाना

- जोड़ों में गांठ की शिकायत होना

- इसके अलावा पैरों और हाथों की उंगलियों में चुभन वाला दर्द होता है जो कई बार असहनीय हो जाता है। इसमें इंसान जल्दी थक जाता है। इसलिए इन लक्षणों को नजरअंदाज ना करें। अंतिम रूप से शरीर में यूरिक एसिड का पता लगाने के लिए ब्लड टेस्ट किया जाता है।

यूरिक एसिड के लिए घरेलू उपाय (Home remedies for treatment)

खूब पानी पीएं और अच्छी नींद लें (Drink plenty of water and have a good sleep) - अधिक मात्रा में पानी पीने से किडनी से यूरिक एसिड तेजी से निकलता है। अपने साथ हमेशा पानी की बोतल रखें। अच्छी नींद भी जरूरी है। सोने से 2 घंटे पहले से डिजिटल स्क्रीन का इस्तेमाल बंद कर दें।

डाइट में फाइबर की मात्रा बढ़ाएं (Add fibre to your diet) - अपनी डाइट में फाइबर की मात्रा अधिक होने से यूरिक एसिड से छुटकारा मिल सकता है। फाइबर ब्लड-शुगर लेवल को भी कंट्रोल करता है।

चीनी युक्त पेय और खाद्य पदार्थ से दूरी (Avoid sugary drinks and sweets) - जिन फूड में प्यूरिन की मात्रा अधिक है, उसे लेना कम कर दें। जैसे मीट, सी फूड आदि पाचन के बाद अधिक मात्रा में यूरिक एसिड का निर्माण करते हैं।

बेरीज़ करेंगी यूरिक एसिड कंट्रोल (Eat berries) - बेरीज़ जैसे स्ट्रॉबेरी, ब्लूबेरी, आदि में एंटी-इनफ्लैमटरी गुण मौजूद होते हैं। यह विशेष गुण यूरिक एसिड के स्तर को कम करने में फायदेमंद हैं।

ककड़ी और गाजर का सेवन करें (Eat Cucumber and Carrots) - यूरिक एसिड को घटाने के लिए गाजर और खीरा बहुत अच्छा है। गाजर एंटी-ऑक्सिडेंट में बेहद समृद्ध हैं जो एंजाइम के उत्पादन को नियंत्रित करने में मदद करती है। अपने उच्च फाइबर सामग्री के कारण, वे यूरिक एसिड सामग्री को शरीर से बाहर निकालने में भी सहायक होती हैं। ककड़ी उन लोगों के लिए एक बढ़िया विकल्प है जिनके रक्त में उच्च यूरिक एसिड होता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Vineeta Kumar
Be the first one to comment