Create

PKL 9: नीलामी में इन 3 खिलाड़ियों को टार्गेट कर सकती हैं Patna Pirates

पिछले सीजन उपविजेता रही थी पटना पाइरेट्स (Photo: PKL)
पिछले सीजन उपविजेता रही थी पटना पाइरेट्स (Photo: PKL)

PKL 9: प्रो कबड्डी लीग (PKL) के आठवें सीजन की उपविजेता और लीग इतिहास की सबसे सफल टीम पटना पाइरेट्स (Patna Pirates) आगामी सीजन की नीलामी में अच्छे खिलाड़ियों को लेना चाहेगी। पटना ने पिछले सीजन के अपने चारों मुख्य रेडर्स को रिलीज कर दिया है। टीम के कोच राम मेहर सिंह (Ram Mehar Singh) ने भी टीम का साथ छोड़ दिया है। पटना ने अपनी डिफेंस को बनाए रखा है क्योंकि पिछले सीजन उनकी डिफेंस ने अदभुत प्रदर्शन किया था। नीलामी में पटना की टीम का मुख्य आकर्षण रेडर्स रहने वाले हैं।

पटना को एक ऐसे रेडर को चुनना होगा जो टीम का लीड रेडर और अधिक से अधिक प्वाइंट लाने की क्षमता रखता हो। इसके अलावा कम से कम दो अन्य रेडर्स लाने होंगे जो मुख्य रेडर को अच्छा सपोर्ट दे सकें। पिछले सीजन की सफलता के बाद इस सीजन भी टीम तीन रेडर्स के साथ खेलने की रणनीति अपना सकती है। आइए एक नजर डालते हैं उन तीन खिलाड़ियों पर जिन्हें पटना को टार्गेट करना चाहिए।

#3 PKL 9 में पटना की राइट कॉर्नर को मजबूती दे सकते हैं बलदेव सिंह

पटना को राइट कॉर्नर की जरूरत है और बलदेव सिंह उनके लिए सही विकल्प हो सकते हैं। पिछले सीजन बलदेव को केवल आठ मैच खेलने का मौका मिला था और उनका प्रदर्शन भी कुछ खास नहीं रहा था। हालांकि, एक खराब सीजन से यह बात नहीं बदल सकती है कि फिलहाल वह लीग के बेस्ट राइट कॉर्नर में से एक हैं। सातवें सीजन में बलदेव ने 24 मैचों में 67 प्वाइंट लेकर बंगाल वॉरियर्स को चैंपियन बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। पटना को इन्हें जरूर टार्गेट करना चाहिए। वो मोहम्मदरेजा, नीरज और सजिन का अच्छा साथ दे सकते हैं।

#2 PKL 9 में परदीप नरवाल की वापसी करा सकती है पटना

परदीप नरवाल और पटना का रिश्ता बेहद शानदार रहा है। पटना में रहकर परदीप ने लीग में अनेकों रिकॉर्ड बनाए और पिछले सीजन पटना की डिफेंस ने ही उन्हें सबसे अधिक परेशान किया। परदीप नीलामी का हिस्सा रहने वाले हैं और उनकी पुरानी टीम पटना उनके ऊपर दांव लगा सकती है। परदीप की काबिलियत पर किसी को शक नहीं है और यदि पटना में उनकी वापसी हुई तो टीम को काफी मदद मिल सकती है।

#1 सिद्धार्थ देसाई के लिए बड़ा दांव खेल सकती है पटना

परदीप को खरीदने के लिए तमाम टीमें अपना जोर लगाएंगी और ऐसे में हो सकता है कि पटना को उन्हें अपने साथ जोड़ने का मौका नहीं मिले। यदि ऐसा होता है तो पटना सिद्धार्थ देसाई के रूप में एक बैकअप प्लान रख सकती है। यदि किन्हीं कारणों से परदीप को लेने में पटना असफल हुई तो वे सिद्धार्थ को खरीदकर स्टार रेडर की अपनी जरूरत पूरी कर सकते हैं। सिद्धार्थ के पास भी वो क्षमता है कि वह अकेले दम पर मैच जिता सकते हैं।

Quick Links

Edited by मयंक मेहता
Be the first one to comment