प्रो कबड्डी 2019: यू-मुम्बा की टीम का पूरा विश्लेषण

यू मुम्बा पिछले साल प्रो कबड्डी लीग के फाइनल में जगह बनाने में नाकाम रही थी

यू मुम्बा प्रो कबड्डी लीग की निरंतर लगातार अच्छा प्रदर्शन करने वाली टीमों में से एक है, क्योंकि वे शुरुआती कुछ सीज़न में लगातार शानदार प्रदर्शन किया। पहले औऱ तीसरे सीजन में मुंबई की टीम रनरअप रही, तो दूसरे सीजन में उन्होंने खिताब पर कब्जा किया। हालांकि, टीम का फॉर्म बाद में खराब हुआ, जिसके कारण लंबे समय तक टीम का नेतृत्व करते आ रहे कप्तान अनूप कुमार को टीम से बाहर कर दिया गया है।

टीम प्रबंधन ने छठे सीज़न के लिए एक नई टीम बनाई है और इस टीम में युवा जोश और अनुभव का सही मिश्रण दिख रहा है। प्रो कबड्डी लीग के सीज़न 6 में यू मुम्बा के लिए सिद्धार्थ देसाई और फज़ल अत्रचली सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी थे। हालांकि, सातवें सीजन से पहले स्टार रेडर सिद्धार्थ देसाई को रिलीज़ करके फ्रैंचाइज़ी ने सभी को चौंका दिया।

वहीं उन्होंने फ़ज़ल अत्रचली को बनाए रखा और फिर नीलामी में अपनी डिफेंस को मजबूत करने के लिए संदीप नरवाल को खरीद लिया, जोकि इस टीम को संतुलन देंगे।

नीलामी में यू मुम्बा का प्रदर्शन?

फजेल अत्रचली और संदीप नरवाल के साथ सुरिंदर सिंह और राजगुरु सुब्रमणियम के साथ यू मुम्बा का डिफेंस लीग में सबसे अच्छी दिखाई देता है।

लेकिन, ऐसा उनके रेडिंग विभाग के बारे में नहीं कहा जा सकता है। मुंबई स्थित फ्रैंचाइज़ी में विनोद कुमार, डोंग जियोन ली और रोहित बलियान शीर्ष तीन रेडर हैं। इस तिकड़ी को नए युवा खिलाड़ियों और अतुल एम.एस का साथ मिलेगा। इसके अलावा, संदीप नरवाल के अलावा, यू मुम्बा टीम में एक भी ऑलराउंडर नहीं है।

यू मुम्बा को किन समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है?

यू मुम्बा के सामने सबसे बड़ी समस्या रेडिंग विभाग में है। उनके रेडर अन्य टीमों की तुलना में बहुत कमज़ोर हैं और उन्हें आने वाले सीज़न में सिद्धार्थ देसाई की कमी निश्चित रूप से खलेगी।

प्रो कबड्डी लीग में, हमने हमेशा नए युवा खिलाड़ियों को नाम बनाते हुए देखा है और यू मुम्बा भी यही उम्मीद कर रही होगी कि उनके द्वारा खरीदा गए युवा खिलाड़ी उन्हें सफलता दिलाएंगे ।

Quick Links

Edited by मयंक मेहता