Pro Kabaddi League: PKL 8 में पटना पाइरेट्स की बहुत ही जबरदस्त जीत, अनूप कुमार की टीम की एक और हार

PKL में पटना पाइरेट्स ने दर्ज की दूसरी जीत (Photo: Pro Kabaddi League)
PKL में पटना पाइरेट्स ने दर्ज की दूसरी जीत (Photo: Pro Kabaddi League)

प्रो कबड्डी लीग, पीकेएल (Pro Kabaddi League, PKL) के 18वें मुकाबले में पटना पाइरेट्स (Patna Pirates) ने पुनेरी पलटन (Puneri Paltan) को 38-26 से हराते हुए इस सीजन की अपनी दूसरी जीत दर्ज की। दूसरी तरफ पुनेरी पलटन की यह 3 मैचों के बाद दूसरी हार है।

Pro Kabaddi League, PKL के दो खिलाड़ियों को दिया गया येलो कार्ड

इस सीजन में यह पहली बार हुआ जब दो खिलाड़ियों को एक मैच में येलो कार्ड दिया गया है। पटना पाइरेट्स की तरफ से सुनील और पुनेरी पलटन की तरफ से विशाल भारद्वाज को येलो कार्ड दिया गया।

पहले हाफ के बाद पटना पाइरेट्स और पुनेरी पलटन के बीच स्कोर 14-14 से बराबरी पर था। शुरुआत से ही दोनों टीमों ने शानदार प्रदर्शन किया और लगातार पॉइंट्स हासिल किए। हालांकि एक समय पुनेरी पलटन ने बढ़त हासिल कर ली थी और वो पटना पाइरेट्स को ऑलआउट करने के करीब आ गए थे, लेकिन पटना पाइरेट्स ने सुपर टैकल करते हुए जोरदार वापसी की और पहला हाफ खत्म होते-होते पुनेरी पलटन को ही ऑल-आउट करने के करीब आ गए थे। इस बीच राहुल चौधरी को स्टार्टिंग सेवन में मौका मिला, लेकिन उन्होंने निराश किया और 4 रेड्स में सिर्फ एक पॉइंट ही हासिल कर पाए और फिर उन्हें दूसरे खिलाड़ी के साथ बदल दिया गया।

पटना पाइरेट्स ने दूसरे हाफ की शुरुआत अच्छे से की और 21वें मिनट में ही उन्होंने पुनेरी पलटन को मैच में पहली बार ऑल-आउट किया। पटना पाइरेट्स ने अपनी लीड को कमजोर नहीं होने दिया और वो जल्द ही एक बार फिर पुनेरी पलटन को ऑल-आउट करने के करीब आ गए। पुनेरी पलटन ने भी सुपर टैकल करते हुए मैच में वापसी की और दोनों टीमों के बीच के अंतर को भी कम किया। आखिरकार पटना ने मैच के 31वें मिनट में पुनेरी पलटन को दूसरी बार ऑल-आउट किया। पुनेरी पलटन के रेडर्स और डिफेंडर्स ने दूसरे हाफ में काफी निराश किया और इसी वजह से इस मैच में हार गए। अंत में पटना पाइरेट्स ने आसानी से इस मैच को जीत लिया।

अंत में पुनेरी पलटन को इस मैच से एक पॉइंट भी नहीं मिला। इस मैच में सचिन ने सुपर 10 लगाया, तो डिफेंस में सुनील और मोहम्मदरेजा चिनायेह ने काफी ज्यादा प्रभावित किया।

Quick Links

Edited by मयंक मेहता
Be the first one to comment