Create

युद्ध से परेशान स्टार यूक्रेनी खिलाड़ी ने मांगी मदद, कहा - 'कीव में है घर, वापस कहां जाऊं'

लेसिया सुरेंको पूर्व विश्व नंबर 23 टेनिस खिलाड़ी हैं और उनका घर यूक्रेन की राजधानी कीव में है।
लेसिया सुरेंको पूर्व विश्व नंबर 23 टेनिस खिलाड़ी हैं और उनका घर यूक्रेन की राजधानी कीव में है।

पिछले एक महीने से चल रहे रूस-यूक्रेन युद्ध का असर खेल की दुनिया पर बुरी तरह पड़ा है। फीफा समेत कई बड़े खेल संघों ने विभिन्न स्पर्धाओं में रूस और युद्ध में उसका साथ दे रहे बेलारूस की टीमों और खिलाड़ियों पर अनिश्चितकाल का बैन लगा दिया है। वहीं टेनिस की दुनिया ने टीम ईवेंट से रूस और बेलारूस को बाहर कर दिया है जबकि एकल और डबल्स की सामान्य रूप से होने वाली प्रतियोगिताओं मे इन देशों के राष्ट्रीय ध्वजों के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है। अब यूक्रेन की टेनिस खिलाड़ी पूर्व विश्व नंबर 23 लेसिया सुरेंको ने ट्विटर पर अपना दर्द बयान किया है। सुरेंको मूल रूप से यूक्रेन की राजधानी कीव की रहने वाली हैं और अब जब उनका शहर युद्ध के कारण लगभग तबाह हो गया है, सेरेंको वापस कीव में कहां जाएं, इसे लेकर परेशान हैं।

After the worst month of my life with constant headache, panic attacks and guilt over the war in Ukraine, I face a new challenge... as a player based in Kyiv, I have nowhere to go. Now every Ukrainian has his own nightmare story...Where should I go? @wta #wta #tennis #ukraine https://t.co/T5Wep4QpLY

32 साल की सुरेंको मौजूदा समय में महिला एकल में WTA रैंकिंग में नंबर 135 पर हैं। सुरेंको ने हाल ही में इंडियन वेल्स, मियामी ओपन में प्रतिभाग किया था और अभी स्पेन में हुए मार्बेला ओपन के राउंड ऑफ 32 में हारकर बाहर हो गईं। अब सुरेंको आने वाले कुछ हफ्तों के लिए किसी टूर्नामेंट में भाग नहीं लेने वाली, ऐसे में उनके सामने दुविधा है कि वो अपने देश यूक्रेन और अपने शहर कीव में वापस कैसे जाएं। सुरेंको ने सोशल मीडिया पर अपने मार्मिक पोस्ट में लिखा है कि पिछले एक हफ्ते से वो लगातार सर दर्द, पैनिक अटैक और यूक्रेन में चल रहे यु्द्ध से दुखी हैं, और कीव में बसे होने के कारण फिलहाल उनके पास और कहीं जाने का चारा नहीं है।

@LTsurenko @WTA I drove home tonight from Cardiff in South Wales, UK - there was a Ukrainian flag flying on the hillside (amazing) - there is a safe place here in Wales 🏴󠁧󠁢󠁷󠁬󠁳󠁿 the UK supports Ukraine 🇺🇦 🙏🏻✨

सुरेंको का मार्मिक पोस्ट देखने के बाद कई फैंस ने उन्हें अपने घरों में आने का निमंत्रण दिया तो कई फैंस ने WTA, ITA जैसी टेनिस असोसिएशन से अपील की कि सुरेंको जैसे कई टेनिस खिलाड़ी, जो परेशान हैं, को मदद दें और दुनियाभर में बनी अलग-अलग टेनिस अकादमी में रहने का अवसर दें। सुरेंको उन यूक्रेनी खिलाड़ियों में शामिल थीं, जिन्होंने यूक्रेन पर रूसी हमले के तुरंत बाद टेनिस संघों से अपील की थी कि वो इस संबंध में दुनिया के सामने अपनी आवाज उठाएं।

@LTsurenko @WTA We would welcome you to stay in California. There are plenty of beautiful tennis clubs to play here waiting for you. 🙏#SlavaUkraini 🇺🇦❤️

टेनिस की दुनिया की ओर से यूक्रेन के हालात पर कई खिलाड़ियों ने पहले से ही अपना समर्थन जताया है। यूक्रेन के पूर्व प्रोफेशनल टेनिस खिलाड़ी सर्गीय स्टाकोवस्की ने यूक्रेन की सेना में शामिल होकर युद्ध का हिस्सा बनना तय किया। रूस के एंड्री रुब्लेव ने मेक्सिको ओपन के दौरान कैमरे पर No War Please लिखा था, डेनिल मेदवेदेव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में युद्ध के कारण हुई तबाही की निंदा की, एंडी मरे और रॉजर फेडरर युद्ध से प्रभावित बच्चों के लिए वित्तीय मदद को आगे आए हैं।

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment