विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप्स : ओलंपिक चैंपियन को हराकर चीन की बिन फेंग ने जीता महिल डिस्कस का गोल्ड

फेंग ने अपने करियर का बेस्ट थ्रो फेंका और गोल्ड हासिल करने में कामयाब हुईं।
फेंग ने अपने करियर का बेस्ट थ्रो फेंका और गोल्ड हासिल करने में कामयाब हुईं।

चीन की बिन फेंग ने अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप्स में महिला डिस्कस थ्रो का गोल्ड जीत लिया है। मौजूदा एशियन चैंपियन फेंग ने 69.12 मीटर की दूरी नापते हुए पहला स्थान हासिल किया। ये फेंग का पर्सनल बेस्ट थ्रो है। 2019 विश्व चैंपियनशिप्स की ब्रॉन्ज मेडलिस्ट क्रोएशिया की सैंड्रा पेरकोविच 68.45 मीटर के साथ दूसरे स्थान पर रहीं। मौजूदा ओलंपिक चैंपियन अमेरिका की वैलेरी ऑलमेन को 68.30 के थ्रो के साथ ब्रॉन्ज मेडल मिला।

खास बात ये है कि 28 साल की फेंग का इससे पहले पर्सनल बेस्ट थ्रो 65.85 मीटर का था जो उन्होंने सितंबर 2021 में हासिल किया था। और अब 10 महीने में ही अपने थ्रो में फेंग ने 3.27 मीटर की दूरी का इजाफा कर विश्व चैंपियन बनने में कामयाबी हासिल की है। फेंग ने पहले ही प्रयास में 69.12 मीटर की दूरी नापी और इसके बाद लगातार पहले नंबर पर बनी रहीं। फेंग पिछली बार 2019 में विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप्स में पांचवे नंबर पर थीं, जबकि उससे पहले साल 2017 में विश्व चैंपियनशिप्स में 8वें स्थान पर रही थीं। वहीं टोक्यो ओलंपिक में फेंग ने 63.06 मीटर के थ्रो के साथ आठवां स्थान हासिल किया था। आखिरी बार चीन को महिला डिस्कस थ्रो का विश्व चैंपियनशिप्स गोल्ड साल 2011 में ली यानफेंग ने दिलाया था।

ओलंपिक चैंपियन ऑलमैन अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दोहरा नहीं सकीं।
ओलंपिक चैंपियन ऑलमैन अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दोहरा नहीं सकीं।

वहीं टोक्यो ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट वैलेरी अपने प्रदर्शन से निराश दिखाई दीं। इस स्पर्धा में वो गोल्ड की सबसे बड़ी दावेदार मानी जा रही थीं। वैलेरी का पर्सनल बेस्ट 71. 46 मीटर का है जो उन्होंने इसी साल अप्रैल में नापा था। लेकिन इस बार विश्व चैंपियनशिप्स में उन्हें 68.30 मीटर की ही दूरी नापने में कामयाबी मिली। वैलेरी ने ये दूरी अपने तीसरे प्रयास में नापी। फेंग की दूरी को पछाड़ने की कोशिश में वैलेरी काफी परेशान दिख रहीं थी जिसका असर उनके थ्रो पर दिखा और अपने आखिरी थ्रो में तो वो 51.41 मीटर के मार्क तक ही पहुंच गईं।

Edited by Prashant Kumar