ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट एलियड किपचोगे ने दो घंटे के अंदर मैराथन को पूरा करके रचा इतिहास

एलियड किपचोगे ने दूसरे प्रयास में किया यह कारनामा
एलियड किपचोगे ने दूसरे प्रयास में किया यह कारनामा

केन्या के एलियड किपचोगे पहले रनर बने हैं जिन्होंने मैराथन को दो घंटे के अंदर को पूरा किया। 34 वर्षिय धावक ने शनिवार 12 अक्टूबर को ऑस्ट्रिया में एक घंटे 59 मिनट और 40 सैकेंड में मैराथन को पूरा करके इतिहास रचा। किपचोगे को इसमें 36 पेसमेकर्स की भी मदद मिली, जिसमें पूर्व ओलंपिक और वर्ल्ड रिकॉर्ड होल्डर शामिल थे।

हालांकि यह आधिकारिक मैराथन रिकॉर्ड नहीं है, लेकिन फिर भी डिस्टेंस रनिंग में यह ऐतिहासिक पल है। यह मैराथन उन्होंने अकेले पूरी नहीं की और पेसमेकर्स का साथ मिला था, इसी वजह से यह वर्ल्ड रिकॉर्ड में नहीं जाएगा।

मैराथन को पूरा करने के बाद किपचोगे ने BBC को कहा, "मुझे काफी खुशी हो रही है। मैं काफी शांत था और बस पेस को बरकरार रखने का प्रयास कर रहा था। मुझे कभी भी शक नहीं था कि मैं इसे तोड़ नहीं पाऊंगा। 1954 में रॉजर बैनिस्टर के बाद ऐसा कारनामा करने में और 65 साल लग गए। मैं कोशिश की और अंत में इसे पूरा किया। 65 साल बाद मैं यह करने वाला पहला इंसान हूं। मैं दूसरे लोगों को भी प्रेरित करा चाहता हूं और चाहूंगा मेरे बाद और भी लोग ऐसा करें। मैंने इसके लिए साढ़े 4 महीने प्रैक्टिस की है।

किपचोगे 2.50 प्रति किलोमीटर की औसत गति से दोड़ रहे थे और वो आधे सफर के बाद शेड्यूल से 11 सेकेंड्स आगे थे। उन्होंने इस गति को बरकरार रखा, जिसके बाद पेसमेकर्स ने अंतिम 500 मीटर्स के उन्हें छोड़ दिया।

दो घंटे के बैरियर को तोड़ने का किपचोगे का यह दूसरा प्रयास था। इससे पहले मोंजा में फॉर्मुला 1 ट्रैक में हुए इवेंट में 26 सेकेंड से ऐसा करने से चूक गए थे। रियो ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीत चुके किपचोगे ने 11 में 10 मैराथन को जीता है। उनका वर्ल्ड रिकॉर्ड 2:01:39 है, जिसे उन्होंने पिछले साल बर्लिन में तोड़ा था।

Edited by मयंक मेहता