Create
Notifications

विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप्स में रिकॉर्ड बनाने वाले एथलीट को मिलेगी विशेष धनराशि

विश्व चैंपियनशिप्स 2022 में दिए जाने वाले मेडल्स की झलक।
विश्व चैंपियनशिप्स 2022 में दिए जाने वाले मेडल्स की झलक।
Hemlata Pandey

अमेरिका के ओरेगोन में 15 जुलाई से शुरु हो रही विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप्स में भाग ले रहे खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाने के लिए आयोजकों ने विशेष घोषणा की है। प्रतियोगिता के आधिकारिक स्पॉन्सर टीडीके ने आयोजकों से साथ मिलकर ऐलान किया है कि कोई भी एथलीट यदि ओरेगोन में नया विश्व रिकॉर्ड बनाता है तो उसे 1 लाख अमेरिकी डॉलर की धनराशि दी जाएगी।

वर्ल्ड एथलेटिक्स की #WeGrowAthletics नामक पहल के अंतर्गत एथलीटों को ये धनराशि मिलेगी। भारतीय रुपए में ये राशि 79 लाख रुपयों के आसपास होगी। लेकिन यदि कोई एथलीट विश्व रिकॉर्ड के आंकड़ों की बराबरी करता है तो उसे ये इनाम नहीं मिलेगा और एथलीट को विश्व रिकॉर्ड की बराबरी नहीं बल्कि उसे तोड़ना जरूरी होगा। ये धनराशि प्रतियोगिता में मिलने वाली इनामी धनराशि से अलग होगी।

विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप्स में इस बार कुल 84.498 लाख अमेरिकी डॉलर की धनराशि इनाम के तौर पर दी जाएगी। दुनिया के 192 देशों के 1900 से ज्यादा एथलीट ट्रैक एंड फील्ड की अलग-अलग प्रतियोगिताओं में भाग लेते दिखाई देंगे। विश्व चैंपियनशिप में हर इवेंट के फाइनल में 8 टॉप एथलीट भाग लेते हैं। इन सभी खिलाड़ियों को इनामी धनराशि दी जाएगी -

स्थानधनराशि (अमेरिकी डॉलर)भारतीय रुपए में
पहला (गोल्ड)70 हजार56 लाख
दूसरा (सिल्वर)35 हजार28 लाख
तीसरा (ब्रॉन्ज)22 हजार17.60 लाख
चौथा 16 हजार12.80 लाख
पांचवा 11 हजार8.80 लाख
छठा 7 हजार5.60 लाख
सातवां6 हजार4.80 लाख
आठवां5 हजार4 लाख

ऊपर दी गई धनराशि एकल इवेंट वाली प्रतियोगिताओं के लिए है। रीले दौड़ के मुकाबलों के लिए गोल्ड विजेता टीम को 80 हजार अमेरिकी डॉलर, सिल्वर जीतने वाली टीम को 40 हजार अमेरिकी डॉलर और ब्रॉन्ज जीतने वाली टीम को 20 हजार डॉलर मिलेंगे।

अमेरिका में पहली बार विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप्स का आयोजन हो रहा है और ये इस प्रतियोगिता का 18वां संस्करण है। भारत की ओर से नीरज चोपड़ा समेत कुल 21 एथलीट इस बार भाग ले रहे हैं। भारत के लिए इकलौता विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप्स पदक साल 2003 में अंजू बॉबी जॉर्ज ने जीता था। पेरिस में हुए प्रतियोगिता में अंजू ने लॉन्ग जम्प का ब्रॉन्ज अपने नाम किया था।


Edited by Prashant Kumar

Comments

Fetching more content...