विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप्स : 400 मीटर बाधा दौड़ में अमेरिका की सिडनी ने बनाया विश्व रिकॉर्ड

सिडनी ने अपना ही रिकॉर्ड तोड़कर नया विश्व रिकॉर्ड बनाया।
सिडनी ने अपना ही रिकॉर्ड तोड़कर नया विश्व रिकॉर्ड बनाया।

टोक्यो ओलंपिक चैंपियन अमेरिका की सिडनी मैक्लॉग्लिन ने विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप्स में महिलाओं की 400 मीटर बाधा दौड़ का गोल्ड मेडल जीत लिया है। सिडनी ने 50.68 सेकेंड्स में रेस पूरी कर नया विश्व रिकॉर्ड बनाया। खास बात ये है कि सिडनी ने अपना ही 51.41 सेकेंड्स का रिकॉर्ड तोड़ा जो उन्होंने इसी साल जून में यूजीन, ओरेगोन के इसी स्टेडियम में बनाया था। इस विश्व चैंपियनशिप्स का ये पहला विश्व रिकॉर्ड है।

सिल्वर मेडल नीदरलैंड्स की फेम्को बोल के नाम रहा जिन्होंने 52.27 सेकेंड्स में रेस पूरी कर अपना सीजन बेस्ट टाइम दर्ज किया। बोल ने टोक्यो ओलंपिक में इसी स्पर्धा का ब्रॉन्ज जीता था। वहीं गत विश्व चैंपियन और टोक्यो ओलंपिक सिल्वर मेडलिस्ट अमेरिका की डलाइलाह मुहम्मद को इस बार विश्व चैंपियनशिप्स में ब्रॉन्ज मेडल से संतोष करना पड़ा।

400 मीटर में अमेरिका और बहामास अव्वल

रेस में पहले स्थान पर फिनिश करने के बाद खुशी जाहिर करते नॉर्मन (बाएं)।
रेस में पहले स्थान पर फिनिश करने के बाद खुशी जाहिर करते नॉर्मन (बाएं)।

पुरुषों की 400 मीटर दौड़ में गोल्ड अमेरिका के नाम रहा। माइकल नॉर्मन ने 44.29 सेकेंड्स के साथ गोल्ड अपने नाम किया। नॉर्मन टोक्यो ओलंपिक खेलों में इस स्पर्धा में पांचवे स्थान पर रहे थे। वहीं टोक्यो ओलंपिक में ब्रॉन्ज जीतने वाले ग्रेनाडा के किरानी जेम्स ने 44.48 सेकंड्स के साथ इस स्पर्धा का सिल्वर मेडल जीता। ग्रेट ब्रिटेन के मैथ्यू-हडसन स्मिथ को ब्रॉन्ज मेडल मिला।

महिलाओं की 400 मीटर दौड़ में 2 बार की ओलंपिक चैंपियन बहामास की शॉना मिलर ने गोल्ड अपने नाम किया। शॉना ने 49.11 सेकेंड्स में दौड़ पूरी की। 28 साल की इस एथलीट ने साल 2016 रियो और 2020 टोक्यो ओलंपिक में इसी स्पर्धा का गोल्ड जीता था। वहीं 2019 और 2015 की विश्व चैंपियनसिप्स में शॉना 400 मीटर में दूसरे स्थान पर रहीं थीं जबकि साल 2017 में उन्हें ब्रॉन्ज मिला था। डॉमिनिकन रिपब्लिक की मेरीलिडी पॉलीनो को सिल्वर मेडल मिला जबकि ब्रॉन्ज बारबाडोस की साडा विलियम्स के नाम रहा।

Edited by Prashant Kumar