जापान ओपन के क्वार्टरफाइनल में पहुंचे प्रणॉय, श्रीकांत हारकर बाहर

प्रणॉय इस बार जापान ओपन में भारत की ओर से इकलौते खिलाड़ी बचे हैं।
प्रणॉय इस बार जापान ओपन में भारत की ओर से इकलौते खिलाड़ी बचे हैं।

ओसाका, जापान में हो रही जापान ओपन सुपर 750 बैडमिंटन प्रतियोगिता के पुरुष सिंगल्स क्वार्टरफाइनल में भारत के एच एस प्रणॉय ने जगह बना ली है। प्रणॉय ने पूर्व विश्व चैंपियन और आठवीं सीड सिंगापुर के लोह कीन यू को 22-20, 21-19 से हराया। पिछले कुछ समय से लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे प्रणॉय ने 45 मिनट चले मैच में निरंतर अंतराल पर अंक कमाए और दोनों सेट के अंत की ओर सधा खेल दिखाकर जीत दर्ज की।

प्रणॉय का सामना क्वार्टरफाइनल में चौथी सीड ताइपे के चोउ तिएन चेन से होगा। विश्व नंबर 18 प्रणॉय का इस साल का ये 9वां टूर्नामेंट है जिसके क्वार्टरफाइनल में वो पहुंचे हैं। पिछले हफ्ते ही प्रणॉय ने विश्व चैंपियनशिप के क्वार्टरफाइनल में भी पहुंचे थे। इस साल मई में थॉमस कप जीतने वाली भारतीय पुरुष टीम के सबसे असरदार परफॉर्मर भी प्रणॉय ही रहे थे। हालांकि इस साल कोई सिंगल्स टूर्नामेंट वो नहीं जीत पाए हैं।

प्रणॉय के अलावा टूर्नामेंट में बचे दूसरे भारतीय खिलाड़ी किदाम्बी श्रीकांत दूसरे राउंड में हारकर बाहर हो गए। श्रीकांत को जापान के कांता सुनेयामा के खिलाफ 21-10, 21-16 से मात मिली। विश्व नंबर 17 सुनेयामा ने विश्व नंबर 14 श्रीकांत को हराने में सिर्फ 40 मिनट का समय लिया। ये हार इसलिए भी निराश करने वाली है क्योंकि श्रीकांत ने पहले दौर में मलेशिया के तेज तर्रार खिलाड़ी ली जी जिया को हराकर बाहर किया था और दूसरे दौर में कागजों पर वह कांता से मजबूत थे।

फिलहाल प्रणॉय पूरे टूर्नामेंट में इकलौते भारतीय बचे हैं। लक्ष्य सेन और साइना नेहवाल पहले ही हारकर बाहर हो चुके हैं। डबल्स में भी भारत की ओर से भाग ले रही सभी जोड़ियां हार चुकी हैं। जापान ओपन के इतिहास में किसी भी भारतीय ने कोई भी स्पर्धा आज तक नहीं जीती है। ऐसे में प्रणॉय इस बार खिताब जीतकर इतिहास रचना चाहेंगे।

Edited by Prashant Kumar