Create
Notifications

साइना नेहवाल ने कहा- ओलंपिक क्‍वालीफिकेशन के बारे में कुछ नहीं सोच रही हूं

साइना नेहवाल
साइना नेहवाल
Vivek Goel
visit

भारत की स्‍टार महिला बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल इस समय अगले साल होने वाली प्रतियोगिताएं और टूर्नामेंट्स के लिए अपनी फिटनेस बरकरार रखने के बारे में सोच रही हैं। साइना नेहवाल ने कहा कि वह चौथी बार ओलंपिक गेम्‍स में जगह पक्‍की करने के बारे में नहीं सोच रही हैं। 2012 लंदन ओलंपिक्‍स की ब्रॉन्‍म मेडलिस्‍ट साइना नेहवाल इस समय विश्‍व बैडमिंटन संघ (बीडब्‍ल्‍यूएफ) में 22वें स्‍थान पर हैं और उन्‍हें टोक्‍यो ओलंपिक्‍स में जगह पक्‍की करने के लिए शीर्ष-13 में पहुंचना जरूरी है।

30 साल की पूर्व महिला सिंगल्‍स नंबर-1 साइना नेहवाल इस समय जनवरी में प्रतिस्‍पर्धी बैडमिंटन में लौटने पर ध्‍यान लगा रही हैं। साइना नेहवाल से जब पूछा गया कि अगले साल क्‍वालीफिकेशन अवधि की योजना के बारे में क्‍या योजना तैयार की है तो उन्‍होंने आईएएनएस को दिए एक्‍सक्‍लूसिव इंटरव्‍यू में कहा, 'मेरी अभी कोई योजना नहीं है। मैं अभी अपनी फिटनेस सुधारने पर ध्‍यान दे रही हूं और इस समय में चोट से उबरते हुए प्रतियोगिता में हिस्‍सा लेने पर ध्‍यान दे रही हूं। मैं ओलंपिक्‍स में क्‍वालीफाइंग के बारे में ज्‍यादा नहीं सोच रही हूं।'

कोरोना वायरस महामारी के कारण बैडमिंटन कैलेंडर ठप्‍प पड़ गया और इसके चलते ओलंपिक्‍स भी एक साल के लिए स्‍थगित किया गया। साइना नेहवाल के पास क्‍वालीफिकेशन के लिए समय कम है। साइना नेहवाल ने कहा, 'मैं कुछ सप्‍ताह के लिए ब्रेक ले रही हूं। मेरी एड़ी और पैर में कुछ परेशानी थी और इसके लिए मुझे पर्याप्‍त ब्रेक की जरूरत थी, तो यह अच्‍छा हुआ। एक बार मैं वापसी करूंगी तो मुझे पता है कि आकार में लौटने में कुछ महीने लगेंगे क्‍योंकि मुझे अपनी फिटनेस के लिए धीमे प्रगति की जरूरत है। मगर यह अच्‍छा था। हमें पता था कि टूर्नामेंट होने से पहले पर्याप्‍त समय लगेगा।'

साइना नेहवाल इस तरह आगे बढ़ेंगी

साइना नेहवाल पहले 13 अक्‍टूबर से शुरू होने वाले डेनमार्क ओपन से वापसी करने वाली थी, लेकिन कई शीर्ष खिलाड़‍ियों के नाम लेने के बाद भारतीय शटलर ने भी नाम वापस लेने का फैसला किया। 3 अक्‍टूबर से होने वाले उबर कप के लिए साइना नेहवाल का नाम भारतीय टीम में शामिल था, लेकिन इसे अनिश्चितकालीन समय के लिए स्‍थगित कर दिया गया।

साइना नेहवाल ने कहा, 'मेरे मामले में, मुझे नहीं लगा कि सिर्फ एक टूर्नामेंट के लिए जाऊं। ऐसे समय में ओलंपिक क्‍वालीफिकेशन के लिए रैंकिंग प्‍वाइंट्स भी नहीं गिने जाते। तो मेरे कुछ कारण थे। फिर बीडब्‍ल्‍यूएफ ने एथलीट्स पर व्‍यक्तिगत फैसला लेने को कहा, तो सब अपना अच्‍छा सोचेंगे।'


Edited by Vivek Goel
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now