Create
Notifications

थॉमस कप विजेता बैडमिंटन टीम से मिले पीएम मोदी, लक्ष्य सेन ने दिया ये खास तोहफा

थॉमस कप विजेता टीम के सभी 10 सदस्यों के साथ पीएम नरेंद्र मोदी।
थॉमस कप विजेता टीम के सभी 10 सदस्यों के साथ पीएम नरेंद्र मोदी।
Hemlata Pandey

पिछले हफ्ते थाईलैंड में ऐतिहासिक प्रदर्शन करने वाली थॉमस कप विजेता भारतीय पुरुष बैडमिंटन टीम के सदस्यों और कोचिंग स्टाफ से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विशेष मुलाकात करते हुए बधाई दी। दिल्ली में इस मुलाकात के लिए किदाम्बी श्रीकांत, एच एस प्रणॉय, लक्ष्य सेन, समेत टीम के सभी सदस्य मौजूद थे। पूर्व बैडमिंटन स्टार पुलेला गोपीचंद भी विशेष रूप से आमंत्रित किए गए थे जबकि उबर कप में भाग लेने वाली भारतीय महिला टीम के सदस्य भी मुलाकात में शामिल हुए।

Interacted with our badminton champions, who shared their experiences from the Thomas Cup and Uber Cup. The players talked about different aspects of their game, life beyond badminton and more. India is proud of their accomplishments. twitter.com/i/broadcasts/1…

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टीम के हर एक सदस्य से उनके अनुभव के बारे में बात की। इस दौरान एच एस प्रणॉय के द्वारा सेमीफाइनल में डेनमार्क के खिलाफ निर्णायक मैच में किए शानदार प्रदर्शन की भी सराहना की। लक्ष्य सेन प्रधानमंत्री के लिए विशेष रूप से अपने गृह जिले अल्मोड़ा की बाल मिठाई लेकर गए थे। थॉमस कप में जीत के बाद पीएम मोदी ने टीम के सदस्यों से फोन पर बात की थी और लक्ष्य सेन से विशेष रूप से आग्रह किया था कि वो बाल मिठाई जरूर लेकर आएं।

पीएम मोदी को अपने गृह जिले की मिठाई देते लक्ष्य सेन।
पीएम मोदी को अपने गृह जिले की मिठाई देते लक्ष्य सेन।

प्रधानमंत्री से मिलने के बाद लक्ष्य सेन ने इस बात पर खुशी जाहिर की कि पूरी टीम के सदस्यों के बारे में पीएम को छोटी-छोटी बातें पता हैं और ये सभी का हौसला बुलंद करती हैं। लक्ष्य सेन के दादाजी और पिता दोनों ही बैडमिंटन खेलते थे और इसका जिक्र खुद पीएम ने मुलाकात के दौरान किया। किदाम्बी श्रीकांत ने भी पीएम द्वारा निजी रूप से टीम का हौसला बढ़ाने के लिए उनका आभार व्यक्त किया।

पुलेला गोपीचंद समेत समस्त कोचिंग स्टाफ से भी पीएम ने विशेष बातचीत की।
पुलेला गोपीचंद समेत समस्त कोचिंग स्टाफ से भी पीएम ने विशेष बातचीत की।

भारतीय पुरुष टीम ने थॉमस कप के 73 साल के इतिहास में इससे पहले कोई पदक नहीं जीता था। टीम ने पहली बार फाइनल में जगह बनाई और गत चैंपियन और 14 बार की विजेता इंडोनिशिया को 3-0 से हराकर पहली बार टीम विश्व कप कही जाने वाली इस प्रतियोगिता पर कब्जा किया।


Edited by Prashant Kumar

Comments

Fetching more content...