Create
Notifications
Get the free App now
Favorites Edit
Advertisement

मैरी कॉम ने रचा इतिहास, रिकॉर्ड छठी बार जीता विश्व बॉक्सिंग चैंपियनशिप का खिताब

  • मैरी कॉम ये कारनामा करने वाली दुनिया की पहली महिला मुक्केबाज बन गई हैं
SENIOR ANALYST
न्यूज़
Modified 20 Dec 2019, 20:01 IST

Enter caption

भारत की स्टार महिला मुक्केबाज एम सी मैरी कॉम ने इतिहास रच दिया है। उन्होंने महिला विश्व बॉक्सिंग चैंपियनशिप में लगातार छठी बार गोल्ड मेडल अपने नाम किया। इसके साथ ही वो इस खिताब को 6 बार जीतने वाली दुनिया की इकलौती महिला मुक्केबाज बन गई हैं।

35 साल की मैरी कॉम ने 48 किलोग्राम वर्ग के फाइनल मुकाबले में यूक्रेन की हना ओखोटा को 5-0 से शिकस्त देकर स्वर्ण पदक अपने नाम किया। फाइनल मुकाबला जीतने के बाद मैरी कॉम ने कहा कि वो इस जीत को अपने देश को समर्पित करती हैं। वो जीत के बाद भावुक भी हो गईं और अपने सभी प्रशंसकों का शुक्रिया अदा किया।

आपको बता दें इससे पहले मैरी कॉम ने साल 2002, 2005, 2006, 2008 और साल 2010 में विश्व चैंपियनशिप का खिताब जीता था। उनसे पहले आयरलैंड की कैटी टेलर ने भी 60 किलोग्राम भारवर्ग में 2006 से लेकर 2016 के बीच पांच स्वर्ण पदक अपने नाम किए थे। वो इस प्रतियोगिता में नहीं उतरी थीं।

मैरी कॉम की इस जीत के बाद उन्हें हर तरफ से बधाईयां मिल रही हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर मैरीकॉम को इस उपलब्धि पर बधाई दी। उन्होंने लिखा 'भारतीय खेलों के लिए ये गर्व का पल है। महिला बॉक्सिंग चैंपियनशिप का खिताब जीतने पर मैरी कॉम को बधाई। उनका खेलों का सफर काफी प्रेरणादायक रहा है और ये जीत काफी खास है।'


खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने भी मैरी कॉम को बधाई दी। उन्होंने कहा 'एक शानदार खिलाड़ी द्वारा बड़ी उपलब्धि। हम सभी के लिए ये काफी गर्व का पल है।


भारतीय टीम के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंदर सहवाग ने कहा 'मैरी कॉम द्वारा बड़ी उपलब्धि। वो भारत की सबसे महान खिलाड़ियों में से एक हैं। मैं काफी खुश हूं और गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं।

Advertisement

दिग्गज बॉक्सर विजेंदर सिंह ने भी मैरी कॉम को बधाई दी और उन्हें प्रेरणास्त्रोत बताया।


भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने इसे भारत के लिए गर्व का क्षण बताया।


Published 24 Nov 2018, 18:34 IST
Advertisement
Fetching more content...