2 कारण क्यों भुवनेश्वर कुमार की भारतीय टेस्ट टीम में वापसी होनी चााहिए

भुवनेश्वर कुमार
भुवनेश्वर कुमार

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) इस वक्त ऑस्ट्रेलिया दौरे पर है जहां पर इस वक्त टेस्ट सीरीज खेली जा रही है। भारत और ऑस्ट्रेलिया दोनों ही एक-एक टेस्ट मुकाबला खेल चुके हैं और एक मैच ड्रॉ हो चुका है। जो भी टीम ब्रिस्बेन टेस्ट मैच जीतेगी सीरीज उसके नाम रहेगी।

भारतीय टीम की अगर बात करें तो इस दौरे पर गेंदबाजों ने काफी बेहतरीन प्रदर्शन किया है और यही वजह है कि अभी तक उन्होंने कंगारू टीम को हर मुकाबले में कड़ी टक्कर दी है और एक टेस्ट मैच जीता भी है। भारतीय गेंदबाजों का प्रदर्शन काफी शानदार रहा है।

हालांकि कई गेंदबाज चोटिल भी हुए हैं। उमेश यादव, मोहम्मद शमी और अब जसप्रीत बुमराह भी चोटिल हो गए हैं। ऐसे में टीम की मु्श्किलें बढ़ गई हैं। भारत को अगले महीने से इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेलनी है और टीम के पास ज्यादा समय नहीं बचा है।

लगातार इंजरी के बीच भारतीय टीम को इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए भुवनेश्वर कुमार को टीम में शामिल करना चाहिए। वो इस वक्त सैय्यद मुश्ताक अली ट्रॉफी खेल रहे हैं। हम आपको बताते हैं कि क्यों भुवनेश्वर कुमार की टेस्ट टीम में वापसी होनी चाहिए।

ये भी पढ़ें: 3 कारण क्यों भारतीय टीम ब्रिस्बेन में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथा टेस्ट मैच जीत सकती है

2 कारण क्यों भुवनेश्वर कुमार की टेस्ट टीम में वापसी होनी चाहिए

1.बेहतरीन गेंदबाजी के अलावा बैटिंग करने की भी क्षमता

भुवनेश्वर कुमार
भुवनेश्वर कुमार

भुवनेश्वर कुमार एक जबरदस्त गेंदबाज हैं और अभी तक भारतीय टीम की तरफ से 21 टेस्ट मैच खेल चुके हैं। इस दौरान उन्होंने कुल 63 विकेट चटकाए हैं। एक बेहतरीन गेंदबाज होने के अलावा भुवनेश्वर कुमार निचले क्रम में उपयोगी बैटिंग भी कर सकते हैं।

भारतीय टीम को अगर देखें तो इस वक्त निचले क्रम में बैटिंग करने वाले गेंदबाज नहीं हैं। जसप्रीत बुमराह, नवदीप सैनी, मोहम्मद शमी और उमेश यादव में से कोई भी गेंदबाज क्रीज पर टिककर लंबे समय तक नहीं खेल सकता है। हालांकि भुवनेश्वर कुमार ऐसा करने में सक्षम हैं। उन्होंने टेस्ट मैचों में अभी तक 552 रन बनाए हैं और 63 रन उनका सर्वाधिक स्कोर भी है। तीन अर्धशतक अभी तक भुवनेश्वर कुमार टेस्ट क्रिकेट में लगा चुके हैं और इससे पता चलता है कि उनके अदंर बैटिंग की पूरी क्षमता है।

भुवनेश्वर कुमार के आने से भारत की गेंदबाजी तो मजबूत होगी ही साथ में निचले क्रम में एक बैटिंग ऑप्शन भी मिल जाएगा।

ये भी पढ़ें: 3 बड़े बदलाव जो चौथे टेस्ट मैच के लिए भारतीय टीम में हो सकते हैं

2.भुवनेश्वर कुमार के आने से भारतीय गेंदबाजी होगी मजबूत

भुवनेश्वर कुमार
भुवनेश्वर कुमार

भारतीय टीम इस वक्त लगातार चोट से जूझ रही है। सभी प्रमुख गेंदबाज इस वक्त चोटिल हैं। ऐसे में अगर भुवनेश्वर कुमार को टीम में शामिल किया जाता है तो फिर टीम की गेंदबाजी मजबूत तो होगी ही साथ में उसमें अनुभव भी काफी आ जाएगा।

भुवनेश्वर कुमार ने भले ही अभी तक सिर्फ 21 ही टेस्ट मैच खेले हैं लेकिन उनके पास काफी अनुभव है। किन परिस्थितियों में किस तरह की गेंदबाजी करनी है ये भुवनेश्वर कुमार को काफी अच्छी तरह से पता है। ऐसे में उनकी निश्चित तौर पर टेस्ट टीम में वापसी होनी चाहिए।

Quick Links

Edited by सावन गुप्ता