Create
Notifications

भारतीय गेंदबाजों द्वारा  टेस्ट में खेली गई 3 जबरदस्त पारियां जिसने सभी को हैरान किया 

उमेश यादव ने मात्र 10 गेंदों में तूफानी पारी खेलते हुए इतिहास रचा था
उमेश यादव ने मात्र 10 गेंदों में तूफानी पारी खेलते हुए इतिहास रचा था
मयंक मेहता

टेस्ट क्रिकेट में हमें अक्सर देखने को मिला है कि भारतीय टीम अपनी विपक्षी टीम के ऊपरी क्रम के बल्लेबाजों को तो आसानी से आउट कर देते हैं, लेकिन निचले क्रम के बल्लेबाजों के आगे भारतीय टीम को संघर्ष करते हुए देखा गया है। इसी वजह से कई बार भारतीय टीम को मैच में हार का सामना भी करना पड़ा।

2018 में इंग्लैंड दौरे पर यह देखा गया था, जब भारतीय टीम काफी मजबूत स्थिति में थी, लेकिन अंतिम के कुछ खिलाड़ियों ने आकर भारत को नुकसान पहुंचाया। विपक्षी टीम की तुलना में भारतीय टीम के निचले क्रम के बल्लेबाज उतने प्रभावशाली नहीं रहे हैं। यह भारतीय टीम की टेस्ट क्रिकेट में सबसे बड़ी कमजोरी भी रही है।

यह भी पढ़ें: भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में दोहरा शतक जड़ने वाले खिलाड़ियों की लिस्ट

हालांकि भारतीय टीम के टेलैंडर्स ने कई बार शानदार पारी खेलते हुए सभी को हैरान भी किया है। यह ही नहीं उन्होंने इस दौरान अपना नाम इतिहास के पन्नों में भी दर्ज कराया।

इस लिस्ट में भारतीय टेलैंडर्स द्वारा खेली गई ऐसी ही पारियों के ऊपर नजर डालेंगे:

#) जहीर खान (75 रन) vs बांग्लादेश

सचिन तेंदुलकर और जहीर खान ने खेली बेहतरीन पारी
सचिन तेंदुलकर और जहीर खान ने खेली बेहतरीन पारी

बांग्लादेश और भारत के बीच ढाका में दिसंबर 2004 में सीरीज का पहला टेस्ट खेला गया था। पहले बल्लेबाजी करते हुए बांग्लदेश 184 रनों पर ऑलआउट हो गई। अपनी पहली पारी में भारतीय टीम ने 393 के स्कोर पर 9 विकेट गंवा दिए थे। हालांकि जहीर खान ने 11वें पर खेलते हुए न सिर्फ शानदार अर्धशतकीय पारी खेली, बल्कि सचिन तेंदुलकर के साथ शतकीय साझेदारी करते हुए भारत के स्कोर को 500 के पार लेकर गए।

सचिन तेंदुलकर और जहीर खान के बीच 133 रनों की साझेदारी हुई, भारत की यह टेस्ट क्रिकेट में आखिरी विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी है। जहीर खान ने 115 गेंदों में 10 चौके और दो छक्कों की मदद से 75 रन बनाए। सचिन तेंदुलकर (248*) और जहीर खान दोनों का ही यह टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक स्कोर है। भारतीय टीम इस मैच को एक पारी और 140 रनों से जीता था।

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान के खिलाफ आखिरी बार टेस्ट क्रिकेट खेलने वाली भारतीय प्लेइंग इलेवन अब कहां हैं?

#) मोहम्मद शमी (51) vs इंग्लैंड

मोहम्मद शमी ने जड़ा शानदार अर्धशतक
मोहम्मद शमी ने जड़ा शानदार अर्धशतक

2014 में भारत के इंग्लैंड दौरे पर 5 मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला नॉटिंघम में खेला गया था। पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत का स्कोर 346-9 था और मुरली विजय ने शानदार शतक लगाया था। आखिरी विकेट के लिए भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी ने शतकीय साझेदारी करते हुए भारत का स्कोर 450 के पार लेकर गए थे।

शमी और भुवनेश्वर कुमार के बीच 111 रनों की साझेदारी हुई, जो आखिरी विकेट के लिए भारत की दूसरी सबसे बेस्ट साझेदारी भी है। इस साझेदारी में मोहम्मद शमी ने अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेली। शमी ने 81 गेंदों में 6 चौके और एक छक्के की मदद से 51 रन बनाए। हालांकि अंत में यह मुकाबला ड्रॉ रहा था।

#) उमेश यादव (31 रन) vs दक्षिण अफ्रीका

उमेश यादव अपनी तूफानी पारी के दौरान
उमेश यादव अपनी तूफानी पारी के दौरान

2019 में भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीसरा टेस्ट 19 अक्टूबर से रांची में खेला गया। पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत का स्कोर 450-7 के स्कोर पर उमेश यादव बल्लेबाजी करने आए। उमेश यादव ने 10 गेंदों में 5 छक्कों की मदद से 31 रनों की धुआंधार पारी खेली। अपने पारी के दौरान यादव का स्ट्राइक रेट 310 का था।

10 या उससे ज्यादा गेंद के मामले में यह टेस्ट सीरीज की सबसे तेज़ पारी है। उमेश यादव ने 310 के स्ट्राइक रेट के साथ स्टीफन फ्लेमिंग (11 गेंद 31, 282 स्ट्राइक रेट) का पिछला रिकॉर्ड तोड़ा। भारत ने इस मैच को आसानी से जीत लिया था।

Edited by मयंक मेहता

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...