Create

3 दिग्गज खिलाड़ी जो टेस्ट क्रिकेट में ज्यादा नहीं खेल पाए 

युवराज सिंह के पास बेहतरीन क्षमता थी
युवराज सिंह के पास बेहतरीन क्षमता थी

टेस्ट क्रिकेट सबसे असली और मुश्किल प्रारूप माना जाता है। एक बेहतरीन खिलाड़ी को टेस्ट क्रिकेट में प्रदर्शन के आधार पर ही तारीफ मिलती है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में टेस्ट क्रिकेट का एक अलग ही महत्व है और खिलाड़ी भी यही चाहता है कि उसे अपने देश की तरफ से टेस्ट क्रिकेट में प्रतिनिधित्व करने का मौका मिले।

सीमित ओवर क्रिकेट में कई खिलाड़ियों को टी20 क्रिकेट की वजह से टीमों में आने का मौका आजकल मिलता रहता है। टेस्ट क्रिकेट में ऐसा नहीं होता। टेस्ट क्रिकेट में अपनी उपयोगिता और तकनीकी मजबूती दर्शाने के बाद ही टीम में जगह मिलने के आसार होते हैं। कई बार घरेलू क्रिकेट में बेहतरीन प्रदर्शन के बाद भी खिलाड़ियों को टेस्ट क्रिकेट के लिए राष्ट्रीय टीम में मौके नहीं मिलते हैं। भारतीय खिलाड़ियों के साथ ऐसा होते हुए देखा भी गया है। कुछ खिलाड़ी ऐसे भी रहे हैं जिन्हें वनडे क्रिकेट का बादशाह माना जाता है लेकिन टेस्ट क्रिकेट में उन्हें ज्यादा खेलने का मौका नहीं मिलता। विश्व के हर कोने में ऐसा होते हुए देखा जा सकता है। विश्व क्रिकेट के तीन ऐसे ही दिग्गजों के बारे में जिक्र इस आर्टिकल में किया गया है जिन्हें टेस्ट क्रिकेट में ज्यादा खेलने का मौका नहीं मिला।

3 दिग्गज खिलाड़ी जिन्हें टेस्ट क्रिकेट में कम मौका मिला

माइकल बेवन

माइकल बेवन तकनीक के मामले में धाकड़ थे
माइकल बेवन तकनीक के मामले में धाकड़ थे

ऑस्ट्रेलिया के लिए वनडे क्रिकेट में उनका नाम काफी बड़ा था। एक बेहतरीन फिनिशर के रूप में माइकल बेवन का नाम आता था। 232 वनडे में 6 हजार से ज्यादा रन बनाने वाले मध्यक्रम के इस बल्लेबाज को टेस्ट क्रिकेट में ज्यादा मौका नहीं मिला। उन्होंने महज 18 टेस्ट मैच ऑस्ट्रेलिया के लिए खेले। डेब्यू टेस्ट सीरीज में तीन अर्धशतक जड़कर शानदार शुरुआत करने वाले बेवन को बाद में ज्यादा मौके नहीं मिले।

लसिथ मलिंगा

लसिथ मलिंगा को और मैच मिलने चाहिए थे
लसिथ मलिंगा को और मैच मिलने चाहिए थे

सीमित ओवर क्रिकेट में अपनी गेंदबाजी के बेताज बादशाह लसिथ मलिंगा का टेस्ट करियर भी ज्यादा लम्बा नहीं चला। उन्होंने करियर में महज 30 टेस्ट मुकाबले खेले। इस दौरान मलिंगा ने 101 विकेट अपने नाम किये। वनडे और टी20 क्रिकेट में उन्होंने श्रीलंका के लिए काफी धाकड़ खेल का प्रदर्शन किया लेकिन असली क्रिकेट यानी टेस्ट क्रिकेट में उनका करियर छोटा रहा।

युवराज सिंह

युवराज सिंह को और मौका मिलना चाहिए था
युवराज सिंह को और मौका मिलना चाहिए था

भारतीय बल्लेबाज युवराज सिंह का टेस्ट करियर भी काफी छोटा ही रहा। वनडे क्रिकेट और टी20 क्रिकेट में तूफानी अंदाज में खेलने वाले युवराज सिंह ने करियर में महज 40 टेस्ट मैच खेले। इस दौरान उन्होंने 1900 रन निकले, युवराज सिंह ने अपने टेस्ट करियर में 3 शतक जड़े। सीमित ओवर क्रिकेट का बड़ा नाम होने के बाद भी लम्बे प्रारूप में युवराज सिंह सफल नहीं रहे।

Quick Links

Edited by Naveen Sharma
Be the first one to comment