Create
Notifications

हरभजन सिंह के IPL करियर से जुड़े 3 तथ्य जिनके बारे में आप शायद नहीं जानते होंगे 

हरभजन सिंह आखिरी बार केकेआर के लिए खेले थे
हरभजन सिंह आखिरी बार केकेआर के लिए खेले थे
Prashant Kumar

हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) का भारतीय क्रिकेट के इतिहास में एक बड़ा नाम है। भज्जी ने 24 दिसंबर को क्रिकेट के हर प्रारूप से संन्यास का ऐलान किया और अपने एक सफल करियर का अंत किया। दाएं हाथ का यह बेहतरीन स्पिनर 1990 के दशक से क्रिकेट खेलता आ रहा है और अपने लंबे करियर में इन्होंने कीर्तिमान भी रचे हैं। वे उन भारतीय टीमों का हिस्सा रहे हैं जिन्होंने 2011 का वर्ल्ड कप एवं 2007 का टी20 वर्ल्ड कप जीतने में कामयाबी हासिल की।

अंतरराष्ट्रीय करियर की तरह हरभजन सिंह का आईपीएल करियर भी काफी बेहतरीन रहा है और उन्होंने चार बार आईपीएल की ट्रॉफी पर कब्जा जमाया है। हरभजन सिंह ने मुंबई इंडियंस, चेन्नई सुपर किंग्स एवं कोलकाता नाइट राइडर्स की ओर से खेला है और उनके नाम 163 आईपीएल मुकाबलों में 7.11 की इकॉनमी के साथ 150 विकेट दर्ज हैं। हरभजन एक शानदार खिलाड़ी रहे और उनके आईपीएल करियर से जुड़े कई रोचक तथ्य रहे। इसी कड़ी में हम उनके आईपीएल करियर से जुड़े 3 तथ्यों को बताने जा रहे हैं, जिनके बारे में आपको शायद ना मालूम हों।

हरभजन सिंह के IPL करियर से जुड़े 3 तथ्य जिनके बारे में आप शायद नहीं जानते होंगे

#1 हरभजन सिंह मुंबई इंडियंस के पहले कप्तान थे

हरभजन सिंह ने मुंबई इंडियंस के एक अहम सदस्य रहे
हरभजन सिंह ने मुंबई इंडियंस के एक अहम सदस्य रहे

बहुत ही कम लोग यह बात जानते होंगे कि हरभजन सिंह आईपीएल की सबसे सफल फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियंस के सबसे पहले कप्तान थे। हरभजन सिंह मुंबई इंडियंस का हिस्सा आईपीएल के सबसे पहले सीजन से थे और शुरुआती कुछ मुकाबलों में सचिन तेंदुलकर के उपलब्ध ना रहने के कारण उन्हें कप्तानी का जिम्मा सौंपा गया। इस प्रकार वे टीम के सबसे पहले कप्तान बनाए गए। हालांकि उनकी कप्तानी की शुरुआत अच्छी नहीं रही और मुंबई इंडियंस को उस मुकाबले में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के हाथों 5 विकेट से हार का सामना करना पड़ा।

#2 हरभजन सिंह ने अपना पहला और आखिरी आईपीएल मैच RCB के खिलाफ खेला

हरभजन सिंह
हरभजन सिंह

जैसा कि हमने आपको बताया कि हरभजन सिंह ने अपने आईपीएल करियर की शुरुआत 2008 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के ख़िलाफ़ की थी, जहां उन्होंने 2 विकेट झटके थे और बल्लेबाजी करते हुए 2* रनों का योगदान भी दिया था।

13 साल के लंबे अंतराल के बाद हरभजन सिंह ने अपने आईपीएल करियर का अंत भी उसी टीम के खिलाफ 2021 में किया मगर वह इस बार कोलकाता नाइट राइडर्स के रंग में दिखे। संयोगवश इस मुकाबले में भी हरभजन सिंह ने बल्लेबाजी करते हुए 2* रन बनाए मगर कोई विकेट ना झटक सके। इस तरह भज्जी ने आरसीबी के खिलाफ अपने आईपीएल करियर की शुरुआत की और समाप्ति भी की।

#3 आईपीएल के इतिहास में 7वें विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी

हरभजन ने सुचित के साथ मिलकर जबरदस्त बल्लेबाजी की थी
हरभजन ने सुचित के साथ मिलकर जबरदस्त बल्लेबाजी की थी

हम सब इस बात से वाकिफ है कि हरभजन सिंह एक बेहतरीन स्पिनर होने के साथ-साथ बल्लेबाजी करने का भी दमखम रखते हैं और उन्होंने कई बार यह साबित करके भी दिखाया है। हरभजन सिंह के नाम आईपीएल में 833 रन दर्ज है और वह अंत के ओवरों में लंबे लंबे छक्के लगाने का माद्दा रखते थे।

पंजाब किंग्स के खिलाफ हुए 2015 के एक मुकाबले में जब मुंबई इंडियंस का स्कोर 59 रनों पर 6 विकेट का था उस समय उन्होंने जगदीशन सुचित के साथ 100 रनों की बेहतरीन साझेदारी की, जो आईपीएल इतिहास में सातवें विकेट के लिए अब तक की सबसे बड़ी साझेदारी है। हरभजन सिंह ने इस मुकाबले में पांच चौकों और छह छक्कों की मदद से 24 गेंदों में विस्फोटक 64 रन बनाए थे।

Edited by Prashant Kumar

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...