Create
Notifications

3 प्रमुख कारणों से बेन स्टोक्स का वनडे से संन्यास लेना इंग्लैंड के लिए एक बड़ा झटका है 

इंग्लैंड के आल राउंडर बेन स्टोक्स ने लिया वनडे प्रारूप से संन्यास
इंग्लैंड के आल राउंडर बेन स्टोक्स ने लिया वनडे प्रारूप से संन्यास
Ayushman Chaudhary

इंग्लैंड के दिग्गज ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ( Ben Stokes) का वनडे क्रिकेट को अलविदा कह देने का फैसला दुनिया भर के उनके सभी फैंस के लिए काफी दुखद है। इंग्लैंड की वर्ल्ड कप जीत में अहम भूमिका निभाने वाले स्टोक्स ने मंगलवार को अपना आखिरी एकदिवसीय मुकाबला साउथ अफ्रीका के खिलाफ डरहम में खेला। उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से वनडे प्रारूप से संन्यास लेने के फैसले से अवगत कराया।

उन्होंने अपनी पोस्ट में लिखा कि तीनों फॉर्मेट को एक साथ मैनेज करना अब उनके लिए काफी मुश्किल हो रहा है और जैसा मुझसे एक्सपेक्ट किया जा रहा है वनडे क्रिकेट में मैं अपना शत-प्रतिशत देने में नाकाम रहा हूं और साथ ही साथ मैने किसी ऐसे खिलाड़ी की जगह भी ले रखी है जो वनडे में कप्तान जोस बटलर और खिलाड़ियों का साथ दे पाए।

इंग्लैंड के ऑलराउंडर खिलाड़ी ने अपने एकदिवसीय करियर में 105 मैच खेले जिसमें उन्होंने 38.98 की औसत से 2924 रन बनाए और 74 विकेट भी लिए। स्टोक्स जैसे ऑलराउंडर खिलाड़ी की कमी इंग्लैंड की टीम वनडे क्रिकेट में शायद ही पूरी कर पाए। उनके जाने के बाद इंग्लैंड की वनडे टीम को कई क्षेत्रों में नुकसान उठाना पड़ सकता है। इस आर्टिकल में हम ऐसी ही कुछ वजहों का उल्लेख करने जा रहे हैं।

3 प्रमुख कारणों से बेन स्टोक्स का वनडे से संन्यास लेना इंग्लैंड के लिए एक बड़ा झटका है

#3 बेन स्टोक्स दुनिया के सबसे बेहतरीन ऑलराउंडर में से एक हैं

वनडे मैच में शतक लगाकर दर्शकों का अभिवादन करते बेन स्टोक्स
वनडे मैच में शतक लगाकर दर्शकों का अभिवादन करते बेन स्टोक्स

बेन स्टोक्स इंग्लैंड क्रिकेट टीम के लिए एक बेहतरीन तेज गेंदबाज ऑलराउंडर हैं। उन्होंने कई बड़े मुकाबलों में अकेले दम पर इंग्लैंड को जीत दिलाई है, फिर चाहे वह 2019 वर्ल्ड कप का फाइनल मैच हो या 2019 में ही खेली गई ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एशेज सीरीज। उन्होंने बल्ले और गेंद दोनों के साथ पूरी साहस से इंग्लैंड क्रिकेट टीम का नेतृत्व किया है। इस ऑलराउंडर की कमी अब इंग्लैंड वनडे टीम शायद ही पूरी कर पाए। उनके खेल की प्रतिभा उनके आंकड़ों से बखूबी जाहिर होती है जहां उन्होंने वनडे में बल्ले के साथ तीन शतक और 21 अर्धशतक लगाए हैं। वहीं गेंद के साथ भी उन्होंने एक-एक बार 5 और 4 विकेट भी लिए हैं।

#2 अनुभव और नेतृत्व

वनडे मैच के दौरान फील्ड सजाते हुए बेन स्टोक्स
वनडे मैच के दौरान फील्ड सजाते हुए बेन स्टोक्स

एक अनुभवी खिलाड़ी का होना कप्तान के लिए टीम को एकजुट करने और मैच जिताने में काफी फायदेमंद होता है। स्टोक्स का अनुभव टीम के नए नवेले कप्तान जोस बटलर के लिए काफी हद तक जरूरी था। स्टोक्स न सिर्फ एक अनुभवी खिलाड़ी हैं बल्कि कप्तान के साथ लीडरशिप में भी अहम रोल अदा करते थे।

कप्तान को एक ऐसे खिलाड़ी की जरूरत होती है जो ना ही सिर्फ उनके साथ टीम का नेतृत्व कर सके बल्कि अपने अनुभव के दम पर मुश्किल समय में सूझबूझ भरे निर्णय लेने में अहम भूमिका निभाए।

#1 आने वाले वर्ल्ड कप के लिए एक उत्तराधिकारी की खोज

वर्ल्ड कप जीत के बाद के साथ बेन स्टोक्स
वर्ल्ड कप जीत के बाद के साथ बेन स्टोक्स

2019 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड की जीत में स्टोक्स ने अहम भूमिका निभाई थी और उस वर्ल्ड कप में स्टोक्स एक बड़े मैच विनर के रूप में सामने आए थे। उन्होंने बड़े टूर्नामेंट में शानदार खेल दिखाया था। अगले साल होने वाले विश्व कप के लिए अब ज्यादा वक्त नहीं बचा है। ऐसे में इंग्लैंड को स्टोक्स का विकल्प जल्द ही खोजना होगा।


Edited by Prashant Kumar

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...