Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

इरफान पठान के क्रिकेट करियर के 3 बेहतरीन लम्हें

TOP CONTRIBUTOR
टॉप 5 / टॉप 10
Timeless

इरफान पठान
इरफान पठान

इरफान पठान जो कि भारतीय क्रिकेट टीम के वो सितारे हैं जिन्हें हम सब ने बड़े होते हुए देखा है, उन्होंने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा कर दी है। विश्व क्रिकेट में अपनी अलग पहचान बनाने वाले, पठान का करियर दो विपरीत हिस्सों की कहानी था।

पहले हाफ में उन्होंने बल्ले और गेंद दोनों के साथ भारत के लिए खेल जीते, जबकि दूसरा हाफ में वो अपनी फ़िटनेस से जूझते रहे, और अपने मौके का इंतजार करते रहे। इरफान ने 28 साल की उम्र में टीम इंडिया के लिए अपना आखिरी अंतर्राष्ट्रीय मैच खेला था। उनके आखिरी वनडे में उन्हें पांच विकेट मिले था। वह 173 एकदिवसीय विकेटों की संख्या के साथ एकमात्र गेंदबाज हैं, जिन्हें कभी विश्व कप खेलने को नहीं मिला।

फिर भी, इरफान पठान ने अपने रुकते और चलते हुए क्रिकेट कैरियर से बहुत कुछ दिया और आज हम उन्हीं के 3 बेहतरीन पल याद करने वाले हैं।

#3 जब पठान भाईयों ने बल्ले के साथ दिखाया दम


इरफान पठान और युसूफ पठान
इरफान पठान और युसूफ पठान

10 फरवरी, 2009 से पहले, दोनों भाइयों ने एक साथ कभी बल्लेबाजी नहीं की थी। एकदिवसीय श्रृंखला 4-1 से जीतने के बाद, टीम इंडिया एकमात्र टी20 में 175 रनों का पीछा करते हुए 115 रन पर 7 विकेट खो दिए थे।

ऊपरी क्रम के बल्लेबाजी को आउट कर दिया गया था और श्रीलंका जीत के करीब थी। लेकिन इरफान और यूसुफ पठान, पठान भाइयों, ने ऐसा नही होने दिया। दोनों ने अगली 25 गेंदों में 60 रनों के स्कोर पर श्रीलंका की गेंदबाजी इकाई का सफाया कर दिया। इरफान ने 16 गेंदों में 33 रनों की पारी खेली, जबकि यूसुफ ने 10 गेंदों में 22 रनों की पारी खेलकर भारत को एक चमत्कारिक जीत दिलाई।


1 / 3 NEXT
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...